नेचुरल डिटॉक्सिफायर है सौंफ, होंगे बहुत से फायदें



आँखों के लिए भी असरदार

वेब ख़बरिस्तान। खाना खाने के बाद सौंफ को खाना हजम करने के लिए खाया जाता है। इसके अलावा सौंफ माउथफ्रेशनर के तौर पर भी खाई जाती है। अगर किसी भी तरह की पेट में गैस और कंजेशन जैसी प्रॉब्लम हो तो सौंफ काफी लाभदयक साबित होती है। आयुर्वेद के अनुसार वज़न घटाने में भी सौंफ हेल्प करती है। सौंफ एक ऐसा घरेलू नुस्खा है जो बहुत ही आसानी से अपनाया जा सकता है। हर एक के घर में मसालों के तौर पर यूज़ होने वाली सौंफ के बहुत फायदें है। आईये जान लेते हैं।

वेट लोस में कारगर

आपको बता दें सौंफ के बीज फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और खनिजों का एक समृद्ध सोर्स हैं, जो बॉडी में शरीर में जमा फैट को जलाने में हेल्प करती हैं। सौंफ के बीज digestive सिस्टम को दुरूस्त करता है जिससे भोजन से पोषक तत्व के अवशोषण में वृद्धि होती है और इसलिए भूख कम लगती है। सुबह एक गिलास सौंफ का पानी पीने से  पेट लंबे टाइम तक भरा रहता है और क्रेविंग्स से भी निजात मिलती है।

मेटाबोलिक रेट को नियंत्रित करती हैं सौंफ

यहाँ आपको बता दें कि मोटापा कम करने के लिए मेटाबोलिक रेट हाई होना चाहिए। सौंफ के सेवन से मेटाबोलिक रेट बहुत ही आसानी से बढ़ना शुरू हो जाता है। जिसकी वजह से वेट कम होता जाता है।


आँखों के लिए भी असरदार

सौंफ का नियमित सेवन करने से आँखों के रोशनी ठीक रहती है। रात को सोते समय एक चम्मच सौंफ के साथ मिश्री को मिलाकर दूध के साथ लेने से आँखों के रोशनी अच्छी हो जाती है।

माउथ फ्रेशनर का काम करती है सौंफ

बहुत से लोग सौंफ को खाना के बाद खाना पसंद करते हैं। यहाँ आपको बता दें की इसकी खुशबू मुहं से आने वाली बदबू को दूर करने का काम करती है। यानिकि सौंफ माउथ फ्रेशनर के रूप में भी काम करती हैं। दाँतों के रोग में भी खासतौर से पायेरिया के रोग में भी कारगर है सौंफ।

डीटॉक्स में मददगार

सौंफ एक नेचुरल डिटॉक्सिफायर है और इसलिए खाना खाने के बाद सेवन करने पर यह अद्भुत काम करता है। यह आपके बॉडी से कई तरह के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है और आपके पाचन तंत्र को शांत करता है, जिससे पाचन आसान हो जाता है।

वॉटर रिटेंशन

सौंफ में मूत्रवर्धक गुण होने के कारण इसको सौंफ की चाय या पानी के रूप में पीने से बॉडी में जमा अतिरिक्त पानी से छुटकारा मिलता है।

इस ख़बर में दी गयी जानकारी आपको जागरूकता मात्र के लिए दी गयी है। अगर आप ऊपर बताई गयी किसी प्रॉब्लम से ग्रस्त हैं तो आप अपने डॉक्टर से जरूर सम्पर्क करें।

Related Links