रुचिरा कंबोज बनी संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में भारत की पहली महिला राजदूत



खबरिस्तान नेटवर्क: संयुक्त राष्ट्र में भारत की नई स्थायी प्रतिनिधि के रूप में राजदूत रुचिरा कंबोज ने अपना कार्यभार संभाला। वह न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में भारत की पहली महिला दूत बन चुकी हैं। कंबोज (58) ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के सामने अपना परिचय पत्र प्रस्तुत किया। बता दें वह 1987 बैच की भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) अधिकारी हैं और भूटान में भारत की राजदूत और दक्षिण अफ्रीका में भारत की उच्चायुक्त के रूप में काम कर चुकी हैं।

राजदूत टीएस तिरुमूर्ति की जगह ली

बता दें उन्हें जून में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में भारत की स्थायी प्रतिनिधि के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होंने राजदूत टीएस तिरुमूर्ति की जगह ली है। वहीँ उनका कहना है कि वे इस नए पद के जरिये अपने देश की सेवा करना बहुत ही  सम्मान की बात है।  

UPSC टॉपर हैं रुचिरा


रुचिरा कंबोज 1987 सिविल सेवा की बैच की ऑल इंडिया महिला टॉपर रही हैं, वहीं उस वर्ष के विदेश सेवा बैच की टॉपर भी बनी थीं। उन्होंने पेरिस में अपनी राजनयिक यात्रा शुरू की, जहां उन्हें 1989-1991 तक फ्रांस में भारतीय दूतावास में तीसरे सचिव के रूप में तैनात किया गया था। उन्होंने 1991-96 तक विदेश मंत्रालय के यूरोप वेस्ट डिवीजन में अवर सचिव के रूप में काम किया। 1996-1999 तक, उन्होंने मॉरीशस में प्रथम सचिव (आर्थिक और वाणिज्यिक) और पोर्ट लुइस में भारतीय उच्चायोग में चांसरी के प्रमुख के रूप में काम किया।

करियर की शुरुआत फ्रांस में थर्ड सेक्रेटरी के तौर

रुचिरा कंबोज भूटान में भारत की पहली महिला राजदूत रही हैं। रुचिरा ने दक्षिण अफ्रीका में भारत की उच्चायुक्त के रूप में सेवाएं दी हैं। रुचिरा कंबोज के करियर की शुरुआत फ्रांस में थर्ड सेक्रेटरी के तौर पर हुई थी। उन्होंने फ्रांस स्थित भारतीय दूतावास में सेकेंड सेक्रेटरी का पद भी संभाला है। रुचिरा यूनेस्को में भारत की राजदूत/स्थायी प्रतिनिधि के रूप में काम कर चुकी हैं। उन्हें जून में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में भारत की स्थायी प्रतिनिधि के रूप में नियुक्त किया गया था।

 

Related Tags


Ruchira Kamboj United Nations Headquarters first woman ambassador of India

Related Links