राष्ट्रपति बनते ही जो ने लिए बड़े फैसले, झूठ के साथ ट्रंप ने ली विदाई

joe biden.

शपथ ग्रहण से दूर रहे डोनाल्ड ट्रंप, विदायगी संदेश में लिखा मैं जीता था

वेब खबरिस्तान। अमेरिका को जो बाइडेन (जोसेफ आर बाइडेन जूनियर) के रूप में 46वां राष्ट्रपति मिल गया है। वह 78 साल के हैं। कमला देवी हैरिस ने भी उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली। 56 साल की कमला पहली महिला, अश्वेत और भारतवंशी उपराष्ट्रपति हैं। अमेरिकी संसद परिसर कैपिटल हिल में बाइडेन ने शपथ ली। 128 साल पुरानी बाइबल पर हाथ रखकर जो ने शपथ ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो और कमला दोनों को बधाई दी है। सोशल मीडिया पर वायरल लास्ट मैसेज में भी ट्रंप ने आदत के मुताबिक झूठ बोलना नहीं छोड़ा और लिखा कि- जो तुम जानते हो मैं जीता हूं।

व्हाइट हाउस से ट्रंप विदा

इससे पहल डोनाल्ड ट्रंप की व्हाइट हाउस से विदायगी हुई। ट्रंप ने शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत नहीं की। ऐसा पहली बार हुआ। बुधवार रात ट्रंप पत्नी मेलानिया के साथ व्हाइट हाउस को गुड बाय कहा। चुनाव हारने के बाद दोनों के रिश्ते के बीच दरार की बात कही जा रही है। ऐसा हो सकता है कि जल्द दोनों के बीच तलाक भी हो जाए। अमेरिकीयों ने जो का स्वागत किया। मेलानिया और डोनाल्ड ट्रम्प फ्लोरिडा के मार-ए-लेगो एस्टेट के लिए रवाना हुए। मंगलवार को मेलानिया ने राष्ट्र के नाम संदेश में हर अमेरिकी को नफरत पर प्यार, हिंसा पर शांति और खुद के बजाय दूसरों को चुनने की सलाह दी।

संसद में हिंसा का जिक्र किया

जो बाइडेन ने अपनी स्पीच में दो हफ्ते पहले कैपिटल हिल में हुई हिंसा का जिक्र भी किया। 22 मिनट के भाषण में बाइडेन ने कहा- अभी कुछ दिन पहले ही हिंसा से संसद की नींव हिलाने की कोशिश हुई थी। इन लोगों को लगा था कि वे वॉयलेंस से हमारी इच्छाशक्ति को साइलेंस कर देंगे, लोकतंत्र को रोक देंगे, हमें खदेड़ देंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। ऐसा होगा भी नहीं। ऐसा न आज होगा, न कल होगा। कभी भी नहीं होगा। जो ने एकता की बात की। जो ने कहा- मैं जानता हूं हमें बांट रही ताकतें बहुत मजबूत हो गई हैं। एकता के बिना अमन नहीं आएगा। इसके बिना तरक्की नहीं होगी। हमने एक बार फिर सीखा है कि लोकतंत्र बेशकीमती है और नाजुक भी , लेकिन लोकतंत्र यहां कायम है। जो ने कमला की भी तारीफ की।

बाइडेन के बड़े फैसले

  • अमेरिका में अब मास्क को फेडरल प्रॉपर्टी घोषित किया गया है। हर व्यक्ति को महामारी के दौरान मास्क लगाना जरूरी होगा। अगर आप सरकारी बिल्डिंग में हैं, या कोरोना हेल्थवर्कर हैं तो सोशल डिस्टेंसिंग रखना जरूरी होगा। ट्रम्प ने मास्क लेकर कोई सख्ती नहीं दिखाई थी।
  • इराक, ईरान, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन पर लगा ट्रैवल बैन हटा दिया गया है। 2017 में ट्रंप ने ये बैन अपने कार्यकाल के पहले हफ्ते ही लगा दिया था। मामला सुप्रीम कोर्ट में गया, जिसे 2018 में कोर्ट ने बरकरार रखा।
  • डब्लूएचओ का हिस्सा होगा अमेरिका। ट्रम्प ने पिछले साल अमेरिका को WHO से अलग कर लिया था।
  • अमेरिका अब पेरिस समझौते में शामिल होगा। ये फैसला भी ट्रंप ने 2019 में लिया था।
  • मैक्सिको बॉर्डर की फंडिंग रोक दी गई है। ट्रम्प ने मैक्सिको से प्रवासियों की एंट्री को देखते हुए दीवार बनाने को नेशनल इमरजेंसी कहा था।
  • कनाडा के साथ विवादित कीस्टोन XL पाइपलाइन समझौता रोक दिया गया है। इसका पर्यावरण समूह विरोध कर रहे हैं। इससे पहले ओबामा ने इस पर बैन लगाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here