कनाडा में Educational Instituitions की सभी सीटें हुई फुल, पंजाब-हिमाचल के विद्यार्थियों का वीजा रूका

स्टूडेंट वीजा को अनुमति नहीं मिल पा रही है।

स्टूडेंट वीजा को अनुमति नहीं मिल पा रही है।



कनाडा के विश्वविद्यालय और कॉलेजों में बैकलॉग से सीटें भरी जा रही हैं

वेब खबरिस्तान। कनाडा में उच्च शिक्षा हासिल करने का सपना देख रहे पंजाब और हिमाचल प्रदेश के कई युवाओं को झटका लगा है। पंजाब और हिमाचल प्रदेश से कनाडा में वीजा के लिए किए गए हजारों आवेदन शिक्षण संस्थानों में सीटें फुल होने से वहां की सरकार ने फिलहाल रोक दिए हैं। 

बताया जा रहा है कि कनाडा के विश्वविद्यालय और कॉलेजों में बैकलॉग से सीटें भरी जा रही हैं। फिलहाल भारत और खासकर पंजाब-हिमाचल से होने वाले आवेदनों पर रोक लगाई गई है, इस कारण स्टूडेंट वीजा को अनुमति नहीं मिल पा रही है। 

विद्यार्थियों ने समस्याओं पर गौर करने की अपील की 


विद्यार्थियों ने ओटावा स्थित भारतीय उच्चायोग से और कनाडा सरकार के अधिकारियों से वहां के विश्वविद्यालयों में नामांकित छात्रों के सामने आ रही समस्याओं पर गौर करने की अपील की है। इनमें कुछ विद्यार्थी ऐसे हैं, जिन्होंने कॉलेजों में दाखिला और ट्यूशन फीस जमा करवा दी है और अब अपने वीजा और छात्र परमिट की प्रक्रिया में देरी की वजह से परेशान हैं। इसकी वजह से हजारों विद्यार्थी शैक्षणिक पाठ्यक्रमों में शामिल नहीं हो पा रहे हैं। बताया जा रहा है कि बीते जुलाई माह तक इस समस्या के समाधान का आश्वासन दिया गया था। इस दौरान ओटावा में भारतीय अधिकारी और टोरंटो और वैंकूवर में वाणिज्य दूतावास ने शैक्षणिक संस्थानों और कनाडा सरकार के प्रतिनिधियों से यह मसला उठाया भी था, लेकिन इसका समाधान नहीं हो सका। 

सूत्र बताते हैं कि इस प्रक्रिया को पूरी होने में अभी छह माह का और समय लग सकता है। 

पंजाब-कनाडा एसोसिएशन के कोर्डिनेटर पवन तलवार और हिमाचल-कैनेडियन एसोसिएशन के कोर्डिनेटर दीपक लठ ने बताया कि कनाडा के शैक्षणिक संस्थानों में आवेदन का एक साल का बैकलॉग चल रहा है,इस कारण और दाखिलों की फिलहाल गुंजाइश नहीं है। 

Related Tags


canada visa punjab canada association student visa canadian pm justin trudeau

Related Links


webkhabristan