कोरोना वैक्सीन बूस्टर डोज: देश में आज से शुरू



फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थकेयर वर्कर्स को डोज लगाई जाएगी, इनके अलावा 60 साल से ऊपर के ऐसे बुजुर्ग जो किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं, उन्हें भी तीसरी डोज दी जाएगी

वेब ख़बरिस्तान। देश में आज से कोरोना वैक्सीन के बूस्टर डोज की शुरुआत हो रही है। आज से 60 वर्ष से अधिक के बुजुर्ग, स्वास्थ्यकर्मी और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की बूस्टर डोज लगेगी। बूस्टर डोज की ऑनलाइन बुकिंग शुक्रवार को ही कोविन ऐप पर शुरू हो चुकी है। ये डोज अभी सिर्फ उन्ही लोगों को लग सकती है जिन्होंने दूसरी वैक्सीन की डोज 9 महीने पहले लगवाई हो। वहीँ स्वास्थ्य विभाग ने यह बूस्टर डोज वरिष्ठ नागरिकों, हेल्थकेयर वकर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स को दिए जाने का फैसला लिया है।

बूस्टर डोज के लिए सर्टिफिकेट दिखाने की जरूरत नहीं

स्वास्थ्य विभाग ने ये फैसला लिया है कि बूस्टर डोज उन लोगों को पहले लगेगी जिन वरिष्ठ नागरिकों को सांस लेने की समस्या हैं। उन्हें यह डोज लेने के लगवाने के लिए किसी भी सर्टिफिकेट को दिखाने की जरूरत नहीं है। यानिकि बूस्टर डोज लगवाने के लिए लोगों को अपने वैक्सीन की दूसरी डोज के सर्टिफिकेट को दिखाने की जरूरत नही होगी।

बूस्टर डोज सीधे वैक्सीन सेंटर पर जाकर भी लगवाया जा सकता है


आपको बता दें सिर्फ कोविन ऐप पर दूसरी वैक्सीन लगने के बाद जो सर्टिफिकेट जारी किया जाता है उसे बूस्टर डोज लगवाते समय दिखाना जरूरी होगा। आप इस डोज की ऑनलाइन बुक कराने के साथ सीधे वैक्सीन सेंटर पर जाकर भी लगवा सकते हैं। बूस्टर डोज लगवाने के बाद इसका सर्टिफिकेट आपको कोविन ऐप पर ही मिलेगा, जिसपर यह दर्ज होगा कि व्यक्ति को बूस्टर डोज लग चुकी है।

रिमाइंडर मैसेज भेजा जा चूका है

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने बताया कि एक करोड़ से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर, 60 वर्ष से अधिक के लोगों को बूस्टर डोज लगवाने के लिए रिमांडर मैसेज भेजा जा चुका है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार इस बात को सुनिश्चित कर रही है कि लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा देश की सुरक्षा को आश्वस्त करता है। रिमाइंडर मैसेज एक करोड़ से अधिक लोगों को भेजा जा चुका है। वहीँ कोविन ऐप पर आप खुद से भी अपना अप्वाइंटमेंट बुक कर सकते हैं।

कोवाक्सिन की तीसरी डोज काफी असरकारक

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने कहा है कि कोवाक्सिन की तीसरी डोज काफी असरकारक होगी। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण का कहना है कि जो जवान चुनाव में तैनात किए जाएंगे उन्हें फ्रंटलाइन वर्कर्स के रूप में शामिल किया गया है, इन लोगों को वैक्सीन की बूस्टर डोज दी जाएगी।

Related Links