राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने जम्मू-कश्मीर में 16 जगहों पर की छापेमारी, वीओएच मैगजीन के ठिकानों पर भी कार्रवाई

एनआईए ने श्रीनगर, अनंतनाग, कुलगाम और बारामूला में ही 9 स्थानों पर छापेमारी की

एनआईए ने श्रीनगर, अनंतनाग, कुलगाम और बारामूला में ही 9 स्थानों पर छापेमारी की



वॉइस ऑफ हिंद’ मैगजीन के प्रकाशन और आईईडी की बरामदगी मामले में जम्मू-कश्मीर में 16 जगहों पर छापेमारी की गई

वेब ख़बरिस्तान,श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी की ओर से वॉइस ऑफ हिंदमैगजीन के प्रकाशन और आईईडी की बरामदगी मामले में जम्मू-कश्मीर में 16 जगहों पर छापेमारी की गई। एनआईए ने श्रीनगर, अनंतनाग, कुलगाम और बारामूला में ही 9 स्थानों पर छापेमारी की। एजेंसी ने हासन रोड कंस्ट्रक्शन कंपनी में ड्राइवर आरीपोरा जेवान निवासी नईम अहमद भट के घर पर छापेमारी की। वहीं बागी नंद सिंह चट्टाबल में मुश्ताक अहमद डार के घर पर भी छापेमारी हुई। इस दौरान संदिग्धों के पास से पांच मोबाइल फोन बरामद किए गए।

मैगजीन के जरिये मुस्लिम युवाओं को कट्टरपंथ बनाने का आरोप


वॉयस ऑफ़ हिन्द नाम की ऑनलाइन मासिक पत्रिका का प्रकाशन फरवरी, 2020 से हो रहा है। दरसल इसके प्रकाशकों पर मैगजीन के जरिए घाटी में मुस्लिम युवाओं को कट्टरपंथ की ओर धकेलने का आरोप है। जिहादी पत्रिका को चलाने वाले लंबे समय से जांच एजेंसी को चकमा दे रहे थे। अलग-अलग वीपीएन नंबर के जरिए इस वेबसाइट को ऑपरेट किया जा रहा है।

फर्जी ऑनलाइन पहचान बनाकर अपना नेटवर्क खड़ा किया

आतंकी संगठन आईएसआईएस की इस साजिश के सिलसिले में इसी साल 29 जून को मामला दर्ज किया गया था। दरअसल भारत के खिलाफ हिंसक जिहाद छेड़ने के लिए देश में मुस्लिम युवाओं को कट्टरपंथी बनाने की योजना है। जांच एजेंसी ने बताया कि आईएसआईएस के आतंकी भारत में अलग-अलग जगहों से ऑपरेट कर रहे हैं। इन्होंने फर्जी-ऑनलाइन पहचान बनाकर अपना एक नेटवर्क खड़ा किया है।

Related Links