चिरयात्रा पर निकले पंडित सुखराम, हज़ारों लोगों ने नम आंखों से दी अंतिम विदाई

हज़ारों लोगों  रिश्तेदारों व प्रदेश भर से नेताओं ने भाग लिया

हज़ारों लोगों  रिश्तेदारों व प्रदेश भर से नेताओं ने भाग लिया



मंडी के हनुमानघाट पर राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

ख़बरिस्तान नेटवर्क, मंडी


देश में दूरसंचार क्रांति के जनक वयोवृद्ध कांग्रेस नेता वीरवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। हिमाचल की छोटी काशी मंडी के हनुमानघाट शमशानघाट पर  पंडित सुखराम की पार्थिव देह का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनके दोनों बेटों और पोतों ने पार्थिव देह को मुखाग्नि दी। मंडी में पंडित जी की अंतिम यात्रा में जनसैलाब उमड़ पड़ा। सुबह करीब साढ़े दस बजे बाड़ी गुमाणू स्थित उनके निवास से सुरु हुई अंतिम यात्रा में हज़ारों लोगों  रिश्तेदारों व प्रदेश भर से नेताओं ने भाग लिया।

पंडित सुखराम की पार्थिव देह को मंडी शहर के सेरी मंच पर दर्शनों के लिए रखा गया जहां आम लोगों व नेताओं ने उन्हें  श्रद्धासुमन अर्पित किए। सीएम जयराम ठाकुर भी शिमला से श्रद्धांजलि देने पहुंचे। उन्होंने पंडित सुखराम के बेटे अनिल शर्मा, पोते आश्रय व आयुष शर्मा को ढांढस बंधाया। मंडी पहुंचे पूर्व सीएम प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने अपने पुराने मित्र को अंतिम विदाई दी। कहा कि पंडित सुखराम वादे के पक्के थे। उन्होंने 1998 में गठबंधन करके भाजपा सरकार बनाने में योगदान दिया था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पंडित सुखराम के निधन पर उनके पोते को लिखे पत्र में दुख जताया।

Related Links