दिल्ली प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार, कहा - वक्त रहते एक्शन क्यों नहीं लेते

दिल्ली की एयर क्वालिटी आज सुबह पुअर कैटेगरी में चली गई थी

दिल्ली की एयर क्वालिटी आज सुबह पुअर कैटेगरी में चली गई थी



सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते वायु प्रदूषण के मामले पर सुनवाई हुई।

वेब ख़बरिस्तान,नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते वायु प्रदूषण के मामले पर सुनवाई हुई। कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि जब मौसम गंभीर होता है तब उपाय किए जाते हैं। प्रदूषण को रोकने की कोशिशें पहले ही की जानी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यह राष्ट्रीय राजधानी है, कल्पना कीजिए कि हम दुनिया को क्या संकेत दे रहे हैं। अदालत ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए वह इसकी सुनवाई करता रहेगा। अगली सुनवाई की तारीख 29 नवंबर तय की गई है।

3 दिन बाद स्थिति की समीक्षा


सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से किए जा रहे उपायों पर सवाल उठाया। जवाब में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि कुछ दिनों में एयर क्वालिटी सुधरने की संभावना है। हम 3 दिन बाद स्थिति की समीक्षा करेंगे। अदालत ने अगले 3 दिनों तक प्रदूषण कम करने के लिए जरुरी कदम उठाने की बात कही। कोर्ट ने कहा कि अगर कोई सुधार होता है, तो कुछ बैन हटाए जा सकते हैं।

किसानों से बात कर समाधान निकाले

पराली जलाने के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा की हम राज्यों को माइक्रोमैनेज नहीं कर सकते। जुर्माने पर राज्य सरकार को फैसला लेना चाहिए। किसानों से बातचीत कर इसका हल निकालें। दिल्ली में बुधवार की सुबह AQI 357 दर्ज किया गया। दिल्ली की एयर क्वालिटी आज सुबह पुअर कैटेगरी में चली गई थी।

Related Links