बारिश में टूट गई पुलिया,  गर्भवती को खाट पर नदी पार करवा पहुँचाया अस्पताल

महिला को खाट पर लेटाकर अस्पताल पहुँचाया

महिला को खाट पर लेटाकर अस्पताल पहुँचाया



एक पुल टूटने से प्रसूता की जान पर बन आई थी

वेब ख़बरिस्तान,उदयपुर। परसाद इलाके में एक पुल टूटने से प्रसूता की जान पर बन आई थी। लेकिन ग्रामीणों ने जान जोखिम में डाल बहती नदी से महिला को खाट पर लेटाकर अस्पताल पहुँचाया। दरअसल गांव में जर्जर पुल नदी के तेज बहाव में बह गया। इस कारण गांव से परसाद जाने के लिए संपर्क टूट गया। तभी गांव के एक दर्जन से ज्यादा युवाओं ने एक दूसरे का हाथ पकड़ कर करीब पांच 5 फीट गहरे पानी में उतर कर महिला को उठाकर नदी पार कराई।

गांव में रहने वाली केसरी देवी को प्रसव पीड़ा हुई


परसाद क्षेत्र में पारेई नदी पर देवेंद्र बांध बना हुआ है। इस के किनारे आशावानिया नाम का एक गांव है। गांव के लोग नदी पर बने पुल को पार कर परसाद आते-जाते हैं। लेकिन पिछले तीन दिनों से हो रही तेज बारिश के बाद नदी में जलस्तर बढ़ने के कारण रविवार सुबह जर्जर पुल टूटकर पानी में बह गया। तभी आशावानिया गांव में रहने वाली केसरी देवी को प्रसव पीड़ा हुई। पहले तो ग्रामीण पानी कम होने का इंतजार करते रहे। महिलाओं ने अपने स्तर पर प्रसव कराने का प्रयास भी किया, लेकिन दर्द ज्यादा होने से उसे अस्पताल ले जाना जरूरी हो गया। इसलिए गर्भवती महिला को खाट पर लेटाया और ग्रामीणों ने अपनी जान जोखिम में डालकर नदी पार की।

एहतियात के तौर पर राखी थी रस्सी

गांव के 12 युवाओं ने पहले नदी में उतर कर एक दूसरे का हाथ पकड़ा। फिर खाट को आगे खिसकाकर नदी में आगे बढ़े। उन्होंने ऐहतियात के तौर पर पास एक रस्सी भी रखी थी, ताकि ज्यादा बहाव में बहने की स्थिति में रस्सी से अपने आप को बचाया जा सके। पति जगदीश मीणा ने सभी को धन्यवाद दिया।

नदी पार करने के बाद महिला को परसाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। महिला की स्थिति गंभीर होने पर उदयपुर रेफर किया गया।

Related Links