17 से 20 जुलाई तक भारी बारिश की चेतावनी, यूपी और हिमाचल में अलर्ट जारी



दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में 18 जुलाई को भारी बारिश का अनुमान

वेब ख़बरिस्तान, नई दिल्ली। मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मॉनसून के फिर से सक्रिय होने की वजह से उत्तरी क्षेत्र सहित देश के कई हिस्सों में कुछ दिनों में बारी बारिश होगी। 17 से 20 जुलाई तक पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और उत्तर प्रदेश में भारी बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग ने बताया कि दिल्ली में आज हल्की बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा हिमाचल में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं, अगले 24 घंटों के दौरान गुजरात, मध्य प्रदेश और दक्षिण राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने के साथ मध्यम से तेज आंधी आ सकती है।


मौसम विभाग के मुताबिक 18 से 20 जुलाई तक पंजाब, हरियाणा, पूर्वी राजस्थान और उत्तरी मध्य प्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। कहा गया है कि 18 जुलाई को दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। 18 जुलाई को उत्तर प्रदेश, 19 जुलाई को जम्मू और 18 और 19 जुलाई को उत्तराखंड में भी भारी बारिश की संभावना है। 17 जुलाई को उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई है। आईएमडी ने कहा है कि 19 जुलाई तक पूर्वोत्तर भारत और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश के साथ व्यापक वर्षा होने की संभावना है।

दिल्ली में शनिवार को आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने और हल्की बारिश या गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना जताई गई है। वहीं, हिमाचल प्रदेश में शनिवार को मैदानी इलाकों, निचली पहाड़ियों और मध्य पहाड़ियों में भारी बारिश, आंधी और बिजली गिरने की चेतावनी मौसम विभाग ने जारी की है। इसने 18-20 जुलाई के लिए भारी से बहुत भारी बारिश के लिए नारंगी चेतावनी भी जारी की गई है।

मुंबई और इसके उपनगरों में शुक्रवार सुबह से भारी बारिश के कारण मीठी नदी में जलस्तर बढ़ जाने से शहर के झुग्गी बहुल इलाके के करीब 250 निवासियों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया। बारिश के कारण लोकल ट्रेन सेवा भी प्रभावित रही। वर्ष 2005 में मुंबई में आई बाढ़ के दौरान मीठी नदी के आसपास के इलाके सबसे अधिक प्रभावित हुए थे और बचाव कार्य में मदद के लिए सेना को बुलाकर स्थानीय लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया था। उस साल बाढ़ में सैकड़ों लोगों की जान गई थी।

Related Links