आरपीएफ दरोगा ने जलते चूल्हे पर लात मार कुकर में पक रही दाल दो बच्चों पर गिराई, तड़पता छोड़ वहां से निकले



दरअसल स्टेशन के पास कब्जा हटाने के नाम पर फुटपाथ पर रहने वाले मजदूरों को हटाने पहुंची टीम के दरोगा मोहित ने जलते चूल्हे पर लात मार दी।

वेब खबरिस्तान, लखनऊ। चारबाग रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ के दरोगा के बेरहम चेहरा सामने आया है। दरअसल स्टेशन के पास कब्जा हटाने के नाम पर फुटपाथ पर रहने वाले मजदूरों को हटाने पहुंची टीम के दरोगा मोहित ने जलते चूल्हे पर लात मार दी। तब कुकर में दाल पक रही थी। खौलती हुई दाल पास बैठे मजदूर के दो मासूम बच्चों पर जा गिरी। वे तड़पने लगे। लेकिन मासूमों को तड़पता छोड़ रेलवे पुलिस का दस्ता आगे बढ़ गया। बच्चों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

डरे सहमे मजदूर समेट ही रहे थे अपना सामान


चारबाग स्टेशन पर वीआईपी शौचालय के पास कई साल से पॉलीथिन डालकर रहते मजदूरों को हटाने के लिए आरपीएफ दस्ता पहुंचा था। तब महिलाएं चूल्हों पर खाना पकाती मिलीं। पुलिस ने उन्हें तुरंत ही हटने को बोला। डरे-सहमे मजदूर अपना सामान समेट ही रहे थे कि जवान नाराज हो गए।

बच्चे सुबह से भूखे थे

लोगों के अनुसार मजदूर राजेश के दो बच्चे सुबह से भूखे थे। उसकी पत्नी रेखा चावल बनाकर कुकर में दाल पका रही थी। उसने पुलिस वालों से दाल पकने तक रुकने की गुजारिश की। लेकिन इतने में ही दरोगा मोहित आग बबूला हो गया। उसने चूल्हे पर इतनी तेज लात मारी कि कुकर दूर जाकर गिरा और उसमें से खौलती हुई दाल भूख से बिलख रहे दोनों मासूमों के ऊपर पड़ी। वे दोनों बुरी तरह झुलसकर छटपटाने लगे।

कोई चीज लगने से दाल गिर गई

पूरे मामले पर पर्दा डालने की कोशिश की जा रही है। आरपीएफ इंस्पेक्टर मुकेश ने कहा कि अतिक्रमण हटाने के दौरान कोई चीज लगने से दाल गिर गई थी। बच्चों का इलाज करा दिया गया है।

Related Links