कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस को बताया फेल, कहा- कानून वापसी से साबित हुआ प्रधानमंत्री जनता की बात सुनते हैं

कैप्टन ने कहा कि इतनी शिकस्त के बाद भी कांग्रेस पंजाब को अस्थिर करने में लगी रही।

कैप्टन ने कहा कि इतनी शिकस्त के बाद भी कांग्रेस पंजाब को अस्थिर करने में लगी रही।



कैप्टन अमरिंदर सिंह ने करतारपुर कॉरिडोर खोलने और कृषि कानून वापसी के बहाने प्रधानमंत्री की सराहना की है

वेब ख़बरिस्तान,चंडीगढ़। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने करतारपुर कॉरिडोर खोलने और कृषि कानून वापसी के बहाने प्रधानमंत्री की सराहना की है। उन्होंने कहा कि कृषि कानून वापस लेकर पीएम ने साबित किया कि वे जनता की राय सुनते हैं। जबकि कांग्रेस चुनाव में लगातार फेल हो रही है। उन्होंने कहा कि पीएम के फैसले को सियासी कमजोरी से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। लोकतंत्र में लोगों की इच्छा पूरी करने वाला ही असली नेता है। कैप्टन अमरिंदर सिंह इस बार पंजाब में भाजपा के साथ सीट शेयरिंग करके चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं।

पाकिस्तान भारत में अशांति फैलाना चाहता था

कैप्टन ने आगे कहा कि युद्ध में पाकिस्तान कभी भारत से नहीं जीत सका। इसलिए वह किसानों के कंधों का इस्तेमाल कर भारत में अशांति फैलाना चाहता था। पीएम मोदी ने कृषि कानून वापसी का कदम उठाकर उनके मंसूबे को फेल कर दिया।


उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का सिखों के प्रति बड़ा लगाव है। सिख गुरुओं की शिक्षा का उन पर बड़ा प्रभाव है। इसलिए उन्होंने करतारपुर कॉरिडोर खोला। सिखों के पहले गुरू श्री गुरुनानक देव जी के प्रकाश पर्व के विशेष दिन पर कृषि कानून वापसी की घोषणा की। इससे ये साफ जाहिर है कि वह सिखों से बेहतर रिश्ता कायम करना चाहते हैं।

सभी राज्यों में कांग्रेस की हार हुई

कैप्टन ने कहा कि 2019 में सीएए का विरोध हुआ, मगर दिल्ली चुनाव में कांग्रेस को शून्य मिला। कोरोना लॉकडाउन दौरान कांग्रेस ने मजदूरों की वापसी को मुद्दा बनाया, लेकिन बिहार में राजद के साथ सरकार नहीं बना सके। केरल में भी कांग्रेस सरकार नहीं बना सकी, जबकि यहां वामपंथी और कांग्रेस बारी-बारी से सरकार बनाते रहे हैं। पुडुचेरी में भी कांगेस सत्ता से बाहर हो गई। बंगाल और असम में भी कांग्रेस साफ हो गई।

कांग्रेस पंजाब को अस्थिर करने में लगी रही

कैप्टन ने कहा कि इतनी शिकस्त के बाद भी कांग्रेस पंजाब को अस्थिर करने में लगी रही। यह एकमात्र राज्य था, जहां 2017 के बाद कांग्रेस हर चुनाव जीतती रही। कैप्टन तब पंजाब के मुख्यमंत्री थे और लोकसभा, विधानसभा उपचुनाव और स्थानीय चुनाव मे कांग्रेस को जीत हासिल हुई थी।

कैप्टन ने यह भी कहा कि कांग्रेस के मुकाबले भाजपा ने दिल्ली में स्थिति बरकरार रखते हुए बिहार में भी बड़े दल के रूप में उभरकर सरकार बनाई। पुडुचेरी में चुनाव जीत लिया। यह सब कृषि कानूनों के विरोध के दौरान हुआ।

Related Links