Chandigarh University Video case : मुंबई, गुजरात का कनेक्शन आया सामने, लड़की को प्रेम जाल में फंसा कर जबरन मांगे अश्लील वीडियो

वह रंकज बनकर ही युवती से चैटिंग कर रहा था।

वह रंकज बनकर ही युवती से चैटिंग कर रहा था।



पुलिस मुताबिक़ छात्रा को धमकी दी गई कि उसका वीडियो वायरल कर दिया जाएगा

वेब खबरिस्तान, मोहाली: घड़ुआं (मोहाली) स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के हास्टल में कई छात्राओं के नहाते समय के वीडियो बनाने के मामले में पुलिस सूत्रों के अनुसार अब तक की जांच में पता चला है कि हिमाचल के रोहड़ू से पकड़े गए आरोपित सनी ने छात्रा को प्रेम के जाल में फंसाकर उससे उसका अश्लील वीडियो मांगा। जब छात्रा ने सनी को वीडियो भेजा तो उसने अपने दोस्त रंकज वर्मा और एक अन्य युवक को इस बारे में बताया। इसके बाद छात्रा को ब्लैकमेल किया जाने लगा।

पुलिस मुताबिक़ छात्रा को धमकी दी गई कि उसका वीडियो वायरल कर दिया जाएगा। वीडियो वायरल न करने के बदले लड़की पर हास्टल की दूसरी छात्राओं का अश्लील वीडियो भेजने का दबाव बनाया गया। इसके बाद लड़की अन्य छात्राओं के वीडियो भी भेजने लगी। यह भी आशंका जताई जा रही है कि इन वीडियो को आगे कहीं बेचा जाता होगा। फिलहाल पुलिस इस एंगल पर भी जांच कर रही है। मामले के तार गुजरात और मुंबई से भी जुड़ रहे हैं।

सनी और रंकज वर्मा को खरड़ अदालत में पेश


सोमवार को पुलिस ने आरोपित लड़की, उसके ब्वायफ्रेंड सनी और रंकज वर्मा को खरड़ अदालत में पेश किया। पुलिस ने तीनों आरोपितों का दस दिन का रिमांड मांगा। हालांकि अदालत ने तीनों को सात दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है।

पुलिस ने अदालत को बताया कि तीनों आरोपितों के मोबाइल फोन पर गुजरात और मुंबई से भी कई काल्स आई हैं। उनका इनसे क्या कनेक्शन है इस संबंध में तीनों से पूछताछ की जाएगी। पुलिस ने बताया कि इस मामले में एक अन्य शख्स भी शामिल है। उसे गिरफ्तार किया जाना बाकी है। उसकी तलाश की जा रही है।

पुलिस के अनुसार जांच में पता चला है कि युवती अपने ब्वायफ्रैंड सनी को जो वीडियो भेजती थी, उसे वह किसी अन्य डिवाइस में स्टोर करता था। सनी से वह डिवाइस बरामद की जानी है।

अदालत में दूसरे वीडियो की बात सामने आई

अब तक प्रशासन और पुलिस यह कहती आई कि आरोपित लड़की ने एक ही वीडियो बनाया था, जोकि उसका खुद का था। लेकिन अदालत में बताया गया कि लड़की ने दो वीडियो बनाए थे। दूसरा वीडियो किसी और छात्रा का था। एडवोकेट संदीप शर्मा ने कहा कि दूसरी वीडियो में किसी का चेहरा नजर नहीं आ रहा और वह वायरल भी नहीं हुआ है। वकील ने यह भी कहा कि रंकज का इस मामले में कोई लेना देना नहीं है। जिस चौथे शख्स ने लड़की को ब्लैकमेल कर यह वीडियो बनवाए हैं उसने अपने आइपी अड्रेस पर रंकज की फोटो लगाई थी और वह रंकज बनकर ही युवती से चैटिंग कर रहा था।

 

Related Tags


chandigarh universitychandigarh university video case chandigarh university mohali punjab police cm bhagwant mann chandigarh university video viral

Related Links


webkhabristan