जालंधर में कांट्रेक्ट मुलाजिमों ने घेरा विधायक परगट सिंह का घर

मांगों को लेकर विधायक परगट सिंह को ज्ञापन सौंपते यूनियन प्रधान।

मांगों को लेकर विधायक परगट सिंह को ज्ञापन सौंपते यूनियन प्रधान।



​​​​​​​मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा, यूनियन प्रधान ने कहा सरकार कोई हल नहीं कर रही

वेब ख़बरिस्तान, जालंधर। जालंधर में पंजाब रोडवेज, पनबस, पेप्सू रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन (पीआरटीसी) के कांट्रेक्ट मुलाजिमों ने लंबित मांगों को लेकर रविवार को विधायक परगट सिंह के घर का घेराव किया। कर्मचारियों ने रोष प्रदर्शन बस स्टैंड से शुरू कर विधायक के घर पर खत्म किया। बारिश में कर्मचारियों का हौंसला पस्त नहीं हुआ। कर्मचारी पंजाब सरकार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे। कर्मचारियों की मांगों को सुनने के लिए विधायक परगट सिंह घर से बाहर निकल आए। विधायक ने कर्मचारियों की मांगों को सुना और जल्द हल करवाने का आश्वास दिया।

विधायक ने दिया आश्वासन


विधायक परगट सिंह ने कहा कि मांगों को पहल के आधार पर हल करवाने की कोशिश करेंगे।। 14 सितंबर को मुख्यमंत्री के साथ कर्मचारियों की बैठक है। मीटिंग में मुझे बुलाया गया तो मांगों को मुख्यमंत्री के समक्ष रखेंगे और हल करवाने की बात कहेंगे। यूनियन प्रधान गुरप्रीत सिंह व महासचिव चानन सिंह ने कहा कि उम्मीद है कि 14 सितंबर को मुख्यमंत्री के साथ होने वाली बैठक में कोई हल निकल आए। मीटिंग में मांगों का हल नहीं निकलता तो यूनियन अगली रणनीति तैयार करेगी। संघर्ष तेज किया जाएगा। हाईवे जाम किया जा सकता है। अगर कोई नुकसान होता है तो जिम्मेवारी सरकार की होगी।

सात दिनों से जारी है प्रदर्शन

सात दिनों में 2100 बसों का चक्का जाम रहा। छह हजार से अधिक ठेका कर्मचारी सरकारी की नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे है। हड़ताल के कारण विभाग को होने वाला ट्रांजैक्शन लॉस 14 करोड़ तक पहुंच गया है। सरकार मांगों को गंभीरता से नहीं लेती है तो लॉस इससे अधिक हो सकता है।

Related Links