सेठ हुक्म चंद कालोनी वेल्फेयर सोसायटी के नाम को लेकर छिड़ा विवाद

विवाद को लेकर सोसायटी पदाधिकारियो ने प्रेस कांफ्रेंस कर स्थिति स्पष्ट की

विवाद को लेकर सोसायटी पदाधिकारियो ने प्रेस कांफ्रेंस कर स्थिति स्पष्ट की



सेठ हुक्म चंद कालोनी वेल्फेयर सोसायटी के नाम को लेकर कालोनी दो गुटो मे नही बंट रही है।

वेब ख़बरिस्तान,जालंधर। सेठ हुक्म चंद कालोनी वेल्फेयर सोसायटी के नाम को लेकर कालोनी दो गुटो मे नही बंट रही है। इस विवाद को लेकर सोसायटी पदाधिकारियो ने प्रेस कांफ्रेंस कर स्थिति स्पष्ट की। सोसायटी प्रधान राजन सूद,ओम प्रकाश, जगदीश कटारिया,पिंकी कालिया,रमन नेगी,रछपाल बब्बू , जानू अरोड़ा,सिल्की भारती ने बताया कि सेठ हुकम चंद कालोनी वेलफेयर सोसाइटी रजि के 20 अगस्त को कोविड नियमो का पालन करते हुए दोनों चैयरमैनों दर्शन भारती व अविनाश कपूर द्वारा विशेष बैठक की गई। बैठक पूर्व प्रधान सतीश कालिया के आदेशानुसार की गई।

सर्वसम्मति से राजन सूद को प्रधान चुना गया


सोसाइटी के चैयरमैन अविनाश कपूर और दर्शन भारती ने पूर्व प्रधान सतीश कालिया के आदेशनुसार कालोनी के प्रधान के चुनाव की घोषणा की। सभी ने सर्वसम्मति से राजन सूद को प्रधान चुना। नवनियुक्त प्रधान राजन सूद ने अपनी टीम का गठन दो दिन बाद कर कालोनी वासीयो को जानकारी देते हुऐ सोसाइटी को एडिशनल रजिस्ट्रार ऑफ़ सोसाइटी जालंधर में 31 अगस्त को अपने इलेक्टेड मेंबरों के साथ रजिस्टर करवा दिया। इसकी सुचना पुलिस कमिश्नर , डिप्टी कमिश्नर सहित क्षेत्रिय पुलिस प्रभारी को दे दी।

मगर पुरानी कमेटी के कुछ सदस्यों वरिंदर मिड्ढा , डा गुरिंदर सिंह ,हरीश कालिया , हेमंत कालिया , नरेश महाजन , दलजिंदर मुल्तानी ,नरेश चौहान ने रजिस्टर्ड सेठ हुकम चंद कालोनी वेलफेयर सोसाइटी के नाम पर कालोनी निवासिओं को गुमराह करके 12 सितंबर को चुनावो की सूचना दी गई। उन्होंने अलग गुटबंदी बनाने की घोषणा कर दी जो कि सरासर गैर कानूनी है। यह सभी लोग कालोनी की रजिस्टर्ड सोसायटी का नाम का उपयोग नही कर सकते यह अपनी अलग संस्था सोसायटी गठन अलग नाम से कर सकते है। अगर यह सेठ हुक्म चंद कालोनी वेल्फेयर सोसायटी का नाम लेकर सगठन बनाते है तो इन पर कारवाई की जाएगी।

Related Links