केरल के बहुचर्चित नन रेप केस में विशेष अदालत ने आरोपी बिशप फ्रैंको के हक में सुनाया यह फैसला, पढ़ें

आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल की फोटो

आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल की फोटो



पीड़िता पंजाब स्थित मिशनरी ऑफ जीसस मण्डली की सदस्य

वेब खबरिस्तानः केरल नन रेप केस में आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल को अदालत ने बरी कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार जून 2018 में एक नन ने बिशप फ्रैंको पर रेप का आरोप लगाया था। आज कोर्ट ने बिशप को इस केस से बरी कर दिया है। केरल की जिला अदालत ने यह फैसला सुनाया है। बता दें कि जून 2018 में 43 साल की जालंधर डायोसिस की नन ने कोट्टायम में पुलिस से शिकायत की थी। उन्होंने बिशप पर 2014 और 2016 के बीच गैरकानूनी तरीके से बंधक बनाने, कई बार दुष्कर्म करने, अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था। इसके बाद कोट्टायम पुलिस ने पंजाब के जालंधर में रोमन कैथोलिक चर्च के पूर्व प्रमुख बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। पीड़िता पंजाब स्थित मिशनरी ऑफ जीसस मण्डली की सदस्य है। इसके बाद केरल पुलिस की विशेष जांच टीम (एस.आई.टी.) ने कई दौर की पूछताछ के बाद सितम्बर 2018 में फ्रैंको को कोच्चि से गिरफ्तार किया था। 40 दिनों के बाद उसको जमानत दी गई थी। इसके बाद 2020 में केरल में नन से दुष्कर्म के मामले में कोट्टायम अदालत ने बिशप फ्रैंको के विरुद्ध आरोप तय किए थे। आज अदालत ने फ्रैंको को केस से बरी कर दिया है।

Related Links