पंजाब में किसानों ने किया इस दिन चक्का जाम का ऐलान

फाईल फोटो।

फाईल फोटो।



​​​​​​​धान की गिरदावरी और लंपी स्किन के कारण पशुओं के नुकसान के मुआवजे की मांग को लेकर करेंगे प्रदर्शन



खबरिस्तान नेटवर्क। पंजाब में किसान एक बार फिर चक्का जाम करने जा रहे हैं। संयुक्त किसान मोर्चा  ने खराब हुई धान की गिरदावरी और लंपी स्किन के कारण पशुओं के नुकसान के मुआवजे की मांग को लेकर 30 सितंबर को पंजाब में चक्का जाम का फैसला किया है।


गुरूद्वारा श्री गुरु तेग बहादुर साहिब हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी लुधियाना में संयुक्त किसान मोर्चा में शामिल किसान जत्थेबंदियों की मीटिंग हुई। ये मीटिंग इंद्रजीत सिंह कोटबुड्ढा, अमरजीत सिंह रड़ा और सुखपाल सिंह डफ्फर की अध्यक्षता में हुई।

साठ हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा मांगा

किसान नेताओं ने कहा कि पंजाब में भयंकर बीमारी के कारण एक लाख एकड़ धान की फसल को नुकसान हुआ है, जिसकी व्यवस्था सरकार नहीं कर पाई। सरकार को तुरंत गिरदावरी कराकर 60 हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा देना चाहिए। लंपी स्किन के कारण किसानों के पशुओं के नुकसान के मुआवजा 2 अगस्त को मुख्यमंत्री से हुई मीटिंग में सरकार द्वारा मानी गई मांगों के रूप में 96 करोड़ और गन्ने सरकारी बकाया के अलावा किसी अन्य मुद्दे पर काम नहीं किया है।

इसमें भारतीय किसान यूनियन खोसा के महासचिव गुरिंदर सिंह भंगू, किसान संघर्ष कमेटी कोट बुड्ढा के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह, जन कल्याण वेल्फेयर सोसायटी के प्रधान बलदेव सिंह सिरसा, बीकेयू से युवा नेता एकता सिद्धूपुर गुरदीप सिंह बर्मा किसान दसुहा गन्ना संघर्ष कमेटी के अध्यक्ष सुखपाल सिंह डफ्फर, पगड़ी संभाल लहर के प्रधान सतनाम सिंह बागड़िया, दोआबा वेल्फेयर  अंदोलन कमेटी के प्रधान  हर्षलिंदर सिंह शामिल हुए।

Related Tags


Farmers in Punjab announced Chakka Jam 30 september chakka jam farmer portest punjab farmer protest chakka jam in punjab

Related Links


webkhabristan