Breaking News - अंडरग्राउंड नहीं हुआ, राहू -केतु को पता था मैं कहाँ हूँ, पर ये ड्रामे कर रहे थे - बिक्रम मजीठिया

बिक्रम मजीठिया ने प्रेस कांफ्रेंस की

बिक्रम मजीठिया ने प्रेस कांफ्रेंस की



हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद बिक्रम मजीठिया ने की प्रेस कांफ्रेंस,कहा - ठोको ताली को खुद देख लूँगा

वेब ख़बरिस्तान, जालंधर। शिरोमणि अकाली दल के नेता बिक्रम जीत सिंह मजीठिया जमानत मिलने के बाद प्रेस कांफ्रेंस की। उन्होंने अंडरग्राउंड होने के सवाल पर कहा कि राहू और केतु को पता था कि मैं कहाँ हूँ। मगर ये दोनों ड्रामे पर ड्रामे कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राहू और केतु को तो मैं देख लूँगा और ठोको ताली को भी देख लूँगा। राहू-केतु कौन हैं?  इस पर मजीठिया ने कहा कि इसके बारे में बाद में बताएंगे। मजीठिया ने कहा कि अभी तो पार्टी शुरू हुई है। ट्रेलर के बाद पूरी फिल्म भी दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि नवजोत सिद्धू को झटका लगा। इनका इलाज करवाएंगे।

मेरे खिलाफ साजिश रची गई

बिक्रम मजीठिया ने कहा कि उनके खिलाफ साजिश रची गई। उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए 4 DGP बदले गए। ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (BOI) के 3 चीफ बदले गए। कई SSP बदले गए। मुख्यमंत्री चन्नी ने खुद मुझे फंसाने के लिए साजिश रची। इसमें डिप्टी सीएम  सुखजिंदर रंधावा और एक एमएलए ने मिलकर अफसरों को धमकाया। यहां तक कि पुलिस अफसरों को करोड़ों रुपयों की ऑफर भी की गई। इसके बावजूद कई अफसरों ने इन्कार कर दिया।

केस हुआ तो सिद्धू भी भागा था


नवजोत सिंह सिद्धू के मजीठिया के फरार होने के बयान पर अकाली नेता ने कहा कि जब केस दर्ज हुआ तो नवजोत सिद्धू भी भागा था। वह कहीं नहीं गए थे। उनका लुकआउट नोटिस निकलवा दिया, जबकि उनके पासपोर्ट पर कोई वैलिड वीजा नहीं है। मजीठिया ने कहा कि अग्रिम जमानत सबका अधिकार है। वह भी इसके लिए कोर्ट गए और उन्हें राहत मिली।

भगवंत मान मेरी फ़िक्र कम करें

भगवंत मान के बयान कि कांग्रेस मजीठिया एकजुट हैं, पर बिक्रम मजीठिया ने कहा कि मेरा प्यार केजरीवाल के साथ भी बहुत हैं। सभी पार्टियों के बहुत सारे लीडर्स जब मेरे पर case दर्ज हुआ तो मेरे घर आये। उन्होंने कहा कि मेरे साथ धक्का हुआ है। उन्होंने भगवंत मान पर तंज कसते हुए कहा कि क्या उनको सीएम उम्मीदवार ऐलान कर दिया आम आदमी पार्टी ने? अगर नहीं तो मुझे बता दें, मेरे उनके साथ संबंध बहुत अच्छे हैं। मजीठिये का फ़िक्र कम और वे अपना फ़िक्र ज्यादा करें।

पीएम को डीजीपी ने क्लीयरेंस दी, ये पूरी प्लानिंग के साथ किया

फिरोज़पुर रैली दौरान प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा मामले में हुई चूक के बारे में उन्होंने कहा कि मैंने कभी नहीं देखा कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह 20 मिनट किसी फ्लाईओवर पर खड़े रहे हो। डीजीपी ने क्लीयरेंस दी लेकिन वे खुद मौके पर मौजूद नहीं थे। रूट डायवर्ट नहीं किया गया। ये सब पीपीसीसी अध्यक्ष के इशारे पर हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रोकने की साजिश सीएम हाउस में रची गई। इसमें नवजोत सिद्धू, मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी, डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा और डीजीपी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय शामिल थे। मजीठिया ने यहां तक कहा कि इस दौरान पीएम मोदी को नुकसान पहुंचाने की साजिश तक रची गई थी।

Related Links