Bathinda में बीस रुपए के लिए महिला भीष्ण गर्मी में बस के सामने जमीन पर लेटी, जाने मामला

Bathinda में बीस रुपए के लिए महिला भीष्ण गर्मी में बस के सामने जमीन पर लेटी

Bathinda में बीस रुपए के लिए महिला भीष्ण गर्मी में बस के सामने जमीन पर लेटी



कंडक्टर ने कहा कि वह पैसे वापस नहीं कर सकता क्योंकि टिकट काट दी गई थी, इसलिए गुस्साई महिला बस के सामने सड़क पर लेट गई

वेब ख़बरिस्तान। पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने कार्यकाल में महिलाओं को मुफ्त बस सेवा दी थी। इस सेवा को लेकर आज बठिंडा बस स्टैंड में एक नया विवाद खड़ा हो गया। स्थानीय सिटी बस स्टैंड पर उस समय हंगामा मच गया, जब फिरोजपुर के काउंटर पर लगी पीआरटीसी की बस के आगे एक बुजुर्ग महिला लेट गई और उसने कंडक्टर से टिकट के 20 रुपए वापिस करने की मांग की। लेकिन कंडक्टर की ओर से काटी गई टिकट कैंसल ना होने की बात कही गई। जिसके बाद उक्त महिला ने बस के आगे लेटकर प्रदर्शन शुरू कर दिया।

यात्रियों, कंडक्टरों और चालकों के समझाने पर भी नहीं मानी महिला

जिसके बाद आखिरकार कंडक्टर ने 20 रुपये लौटाकर छुटकारा पाया। स्थिति यह हो गई कि मौके पर मौजूद यात्रियों, कंडक्टरों और चालकों ने भी महिला को समझाने की कोशिश की लेकिन वह अपनी बात पर अड़ी रही। बुजुर्ग महिला के प्रदर्शन का वीडियो भी वायरल हो गया है। कंडक्टर ने कहा कि वह बजाखाना से बठिंडा जा रहा था कि उक्त महिला के साथ परिवार के एक सदस्य ने टिकट लिया, लेकिन महिला के पास आधार कार्ड होने के कारण उसकी टिकट नहीं काटी जा सकती थी, लेकिन टिकट पहले ही काट दी गई थी। जब महिला टिकट के बारे में पता चलने पर उसने अपना आधार कार्ड दिखाया और 20 रुपये वापस करने की मांग की।


 

कंडक्टर ने पैसे देकर छुड़वाई जान

कंडक्टर ने कहा कि वह पैसे वापस नहीं कर सकता क्योंकि टिकट काट दी गई थी। इसलिए गुस्साई महिला बस के सामने सड़क पर लेट गई और रिफंड की मांग करने लगी। जिस कारण कंडक्टर ने महिला को 20 रुपये लौटा दिए और महिला के गुस्से को शांत किया। इस अवसर पर मौजूद पीआरटीसी नेता पाला सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार ने महिलाओं को मुफ्त बस सेवा प्रदान की है। हालांकि यह फैसला सरकार ने अपने स्तर पर लिया है, लेकिन इससे कंडक्टरों और ड्राइवरों के लिए भी मुश्किलें खड़ी हो गई हैं, जिनके बारे में सरकार को सोचने की जरूरत है।

Related Links