कांग्रेस की सोनिया की बैठक में जानें क्यों लटकी लिस्ट, किस विधायक को टिकट ना देने का किसने ने किया विरोध

केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक

केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक



चुनाव के लिए पहली कांग्रेस सूची जारी नहीं की जा सकी क्योंकि सोनिया की ओर से केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में जाखड़, चन्नी और नवजोत सिद्धू ने स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा नामित उम्मीदवारों का विरोध किया

वेब ख़बरिस्तान। पंजाब चुनाव के लिए पहली कांग्रेस सूची जारी नहीं की जा सकी क्योंकि सोनिया गांधी की ओर से केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में सुनील जाखड़, मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू ने स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा नामित उम्मीदवारों का विरोध किया। दरअसल, सोनिया गांधी ने स्क्रीनिंग कमेटी को पढ़ना शुरू किया तो इसी के बीच तीनों नेताओं ने आपत्ति जतानी शुरू कर दी। इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, सोनिया गांधी ने पूछा कि अगर उन्हें कोई आपत्ति है तो उन्होंने स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में सूची को फाइनल करके क्यों हमें भेजी गई, साथ ही सोनिया ने उन्होंने जाखड़ से कहा कि यह आपत्तियां उठाने का मंच नहीं है।


सोनिया गांधी ने इन नेताओं से दोबारा स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक बुलाकर नाम फाइनल करके लाने के आदेश दिए। इन नेताओं ने सोनिया गांधी से कहा कि स्क्रीनिंग कमेटी में माहौल आपत्ति जताने के लिए अनुकूल नहीं था। इसी बीच जब सोनिया गांधी की बैठक चल रही थी, राहुल गांधी चुपचाप देख रहे थे, लेकिन अंत में राहुल ने कहा कि ऐसे किसी भी नेता को टिकट नहीं दिया जाना चाहिए, जो सत्ता-विरोधी लहर की मार पड़े।

वहीं सिद्धू ने कई उम्मीदवारों पर आपत्ति जताई, हालांकि चन्नी ने गढ़शंकर से अमरप्रीत सिंघ लाली को टिकट देने पर आपत्ति जताई। वहीं आदमपुर से चन्नी ने मोहिंदर सिंह केपी को टिकट देने की बात भी कही। उधर, जाखड़ ने प्रताप बाजवा को टिकट देने पर आपत्ति जताते हुए कहा कि केंद्र ने गांधी परिवार की सुरक्षा वापस ले ली थी लेकिन बाजवा को केंद्रीय सुरक्षा मिली थी। जाखड़ ने सोनिया से यह भी पूछा कि अगर वह यहां पर आपत्तियां ना उठाए तो फिर कहां पर आपत्तियां उठाए।

Related Tags


sonia gandhi navjot singh sidhu charanjit singh channi sunil jakhar

Related Links