विधायक परगट सिंह ने महिलाओं को मुफ्त बस सफर का किया विरोध, कहा ये सिस्टम बंद होना चाहिए

पंजाब कांग्रेस संगठन के महासचिव विधायक परगट सिंह

पंजाब कांग्रेस संगठन के महासचिव विधायक परगट सिंह



परगट सिंह ने महिलाओं के मुफ्त बस सफर स्कीम पर कैप्टन सरकार को घेरा है

वेब ख़बरिस्तान,जालंधर। पंजाब कांग्रेस संगठन के महासचिव विधायक परगट सिंह ने महिलाओं के मुफ्त बस सफर स्कीम पर कैप्टन सरकार को घेरा है। परगट सिंह ने कहा कि महिलाओं को बसों में फ्री सफर से सरकारी और प्राइवेट ट्रांसपोर्ट पर असर पड़ रहा है। अगर इसी तरह सफर फ्री करते जाएंगे तो फिर आने वाले टाइम में सरकार व सिस्टम कैसे चलेगा। अब यह फ्री वाला सिस्टम ही बंद होना चाहिए।

कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों ने घेरा था विधायक का घर


दरअसल रविवार को हड़ताल पर चल रहे पंजाब रोडवेज, पीआरटीसी और पनबस के कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों ने परगट सिंह के घर का घेराव किया था। इसके बाद परगट सिंह की यह प्रतिक्रिया आई है। परगट के हमले से साफ तौर पर फिर कैप्टन और सिद्धू ग्रुप की आपसी कलह उभरकर सामने आई है। उनका यह बयान तब आया है, जब मंगलवार को कर्मचारियों की कैप्टन अमरिंदर सिंह से बैठक होने वाली है।

8 दिन से सरकारी बसों का चक्काजाम

राज्य सरकार से रेगुलर करने की मांग को लेकर पंजाब में कॉन्ट्रैक्ट बसकर्मी हड़ताल पर हैं। इसलिए 8वें दिन भी पंजाब में सरकारी बसों का चक्काजाम जारी रहेगा। हड़ताली कर्मचारियों के साथ मंगलवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह बैठक करने जा रहे हैं। इसमें कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों की मांगों को लेकर सरकार फैसला ले सकती है। कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी यूनियन जालंधर के प्रधान गुरप्रीत सिंह ने कहा कि जब तक मांगें नहीं मानी जाती, तब तक हड़ताल जारी रहेगी।

कैप्टन सरकार जारी कर चुकी है नोटिस

कैप्टन सरकार की ओर से हड़ताली बस कर्मियों को नोटिस भी जारी किया जा चूका है। इसमें कहा गया है कि कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक उन्हें हड़ताल का अधिकार नहीं है। इसलिए चक्काजाम खत्म कर काम पर लौटें और बस चलाएं। अगर ऐसा नहीं होता तो उनका कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया जाएगा। मगर यूनियन ने इस पर कड़ा रुख दिखाते हुए कहा है कि वो सरकार की इस दमनकारी नीति से डरने वाले नहीं हैं।

Related Links