जालंधर के कन्यावाली मोहल्ले में पिटबुल की दहशत, सुबह से चल रहा रेस्क्यू आप्रेशन

घर में बंद पिटबुल और कुत्ते का मालिक जिससे लड़कियां पिटबुल लेकर आई थीं।

घर में बंद पिटबुल और कुत्ते का मालिक जिससे लड़कियां पिटबुल लेकर आई थीं।



दूध में अंडा और नींद की गोलियां डालकर दी गईं, मोहल्ले के लोग कर रहे कुत्ते के बेहोश होने का इंतजार



खबरिस्तान नेटवर्क। जालंधर के मोहल्ला कन्यावाली में पिटबुल कुत्ते की दहशत बनी हुई है। पिछले करीब आठ घंटे से कुत्ते को बेहोश करने की जद्दोजहद चल रही है। बीती रात पिटबुल कुत्ते ने दो लड़कियों को बुरी तरह से नोचकर घायल कर दिया है।

रात दो बजे तक मोहल्ले में हंगामा चलता रहा। कुत्ते को लड़कियों ने ही रखा हुआ था। अब कुत्ते के बेहोश होने का इंतजार किया जा रहा है। लोगों ने बताया कि मोहल्ले में एक और व्यक्ति ने रोह्टव्हीलर कुत्ता पाल रखा है। लोगों ने उसके खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की है।

लड़कियों ने पाल रखा था पिटबुल


कुत्ते को लड़कियों ने खुद ही पाल रखा था। बीती रात कुत्ते ने दोनों लड़कियों काट लिया था। लड़कियां कुत्ते को बाहर घुमाने ले गईं। भागकर घर से बाहर आ गईं और बाहर से कुंडी लगा दी। कुत्ता रातभर अंदर ही रहा। सुबह कुत्ते को पकड़ने की जद्दोजहद शुरू हुई।

लोगों ने पुलिस को सूचित किया मगर कोई नहीं आया। रात को कंट्रोल रूम पर भी फोन किया गया तो जवाब मिला कि कुत्ते के मामले में वे कुछ नहीं कर सकते। नगर निगम से भी मदद मांगी गई, लेकिन कोई मदद नहीं मिली। शाम करीब छह बजे थाना सात के एसएचओ मौके पर आए थे।

कुत्ते का मालिक ढूंढा

दोनों ल़ड़कियां जिस व्यक्ति से कुत्ता लेकर आईँ थी। लोगों ने उसे ढूंढा और उसे बुलाया गया। इस दौरान जिस घर में कुत्ता था वहां सीमेंट की सीढ़ी न होने के कारण छत से लकड़ी की सीढ़ी लगाई गई और कुत्ते के मालिक को नीचे भेजने की तैयारी की गई।

मगर कुत्ते की हालत देख वह भी नीचे नहीं गया। फिर कुत्ते को दूध में नींद की गोलियां डाल कर दी गईं, मगर उसने नहीं पीं। बाद में दूध में अंडा और नींद की गोलियां मिलाकर दी गईं। रात करीब आठ बजे तक कुत्ते के बेहोश होने का इंतजार किया जा रहा था। पुलिस उक्त कुत्ते के मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर सकती है।

प्रतिबंध के बावजूद पिटबुल पालते हैं लोग

गौरतलब है कि जैसा कि कई बार देखा गया है कि पिटबुल कुत्ते ने छोटे बच्चों और अन्य लोगों को घायल किया है जिसको देखते हुए भारत समेत कई देशों में ये कुत्ते प्रतिबंधित है और भारत सरकार ने पिटबुल कुत्ते रखने पर भारी जुर्माना और सजा भी रखी हुई है।

Related Tags


Panic of pitbull pittbull in Kanyawali Jalpitbull andhar rescue operation pitbull

Related Links