पंजाब के सरकारी स्कूलों में बच्चों को किताबें न मिलने पर सियासी घमासान : पूर्व शिक्षा मंत्री परगट सिंह ने 'आप' को घेरा

सूत्रों अनुसार कागज की कमी के कारण किताबें नहीं छापी जा सकी।

सूत्रों अनुसार कागज की कमी के कारण किताबें नहीं छापी जा सकी।



हालाँकि अभी आम आदमी पार्टी ने इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी है।

वेब खबरिस्तान, चंडीगढ़। पंजाब के सरकारी स्कूलों में बच्चों को किताबें न मिलने पर सियासी घमासान मच गया है। पूर्व शिक्षा मंत्री और मौजूदा विधायक परगट सिंह ने आम आदमी पार्टी सरकार को घेरा है। परगट ने कहा कि सरकार बनने के 5 महीने बाद भी CM भगवंत मान सरकार पंजाब के सरकारी स्कूलों में स्टूडेंट्स को किताबें तक उपलब्ध नहीं करवा सकी।


दूसरी तरफ पेपर सिर पर हैं। अब कह रहे हैं कि किताबों की छपाई के लिए सरकार के पास कागज नहीं है। यही दिल्ली मॉडल की पढ़ाई है। हालाँकि अभी आम आदमी पार्टी ने इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी है।

कागज की कमी के कारण नहीं छप रही किताबें  

सूत्रों अनुसार कागज की कमी के कारण किताबें नहीं छापी जा सकी। इस संबंध में शिक्षा विभाग के अफसरों की मोहाली में मीटिंग हुई थी। इसमें इस बात को लेकर भी चर्चा हुई। किताबें छापने वाले वैंडर ने पिछले बिल क्लियर न होने के कारण इनकार कर दिया। विभाग के पास फंड की भी कमी है। वहीं शिक्षा बोर्ड चेयरमैन योगराज शर्मा ने दावा किया कि मामला हल हो गया है। पूरी व्यवस्था बनाते हुए एक हफ्ते में किताबें बांट दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि पुराने स्टूडेंट्स को किताबें मिल चुकी हैं। सिर्फ नए को देना बाकी है।

Related Tags


pargat singh mla pargat singh punjab congress aam aadmi party punjab school education board education minister punjab cm bhagwant mann

Related Links