अग्निपथ पर पंजाब Vs केंद्र सरकार:विधानसभा में सेना भर्ती योजना के खिलाफ प्रस्ताव लाने की तैयारी में पंजाब सरकार

बीते शनिवार को युवाओं ने जालधंर में नेशनल हाइवे जाम कर दिया

बीते शनिवार को युवाओं ने जालधंर में नेशनल हाइवे जाम कर दिया



सेना भर्ती की अग्निपथ स्कीम को लेकर पंजाब और केंद्र सरकार आमने-सामने हो गई है

वेब खबरिस्तान, चंडीगढ़। सेना भर्ती की अग्निपथ स्कीम को लेकर पंजाब और केंद्र सरकार आमने-सामने हो गई है। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अग्निपथ के खिलाफ पंजाब विधानसभा में प्रस्ताव लाने की बात कही है। जालंधर में कल हुए प्रदर्शन के बाद उन्होंने युवाओं से कहा कि 24 से पंजाब विधानसभा का सेशन है। उसमें यह प्रस्ताव लाएंगे। इस मामले में वह डटकर युवाओं के साथ खड़े हैं। इसमें न कोई समझौता किया जाएगा और न ही कोई राजनीति। इससे पहले चंडीगढ़ में केंद्रीय नियम लागू करने को करने को लेकर भी पंजाब सरकार प्रस्ताव पास कर चुकी है।

सीएम mann ने किया था ट्वीट 


CM भगवंत मान अग्निपथ स्कीम का लगातार विरोध जता रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अब फौज भी किराए और कॉन्ट्रेक्ट पर दे रही है। मान ने कहा कि इस स्कीम से सैनिकों के लड़ने की क्षमता कमजोर होगी। केवल 4 साल में उनके पास जंग में दुश्मन से लड़ने का तजुर्बा नहीं होगा। यह स्कीम 4 साल बाद फौज से आए युवकों को बेरोजगार बना देगी। उनका भविष्य असुरक्षित हो जाएगा। यह स्कीम युवाओं को बेरोजगारी और गरीबी के बुरे दौर में धकेल देगी। जो देश की एकता, अखंडता और प्रभुसत्ता के लिए घातक साबित होगी।

Related Tags


agnipath scheme indian airforce indian national army agniveer what is agnipath scheme pm narendra modi cm bhagwant mann punjab assembly parliament

Related Links



webkhabristan