पंजाब सरकार ने सड़क हादसों में मृत्यु दर को कम करने के लिए उठाया यह बड़ा कदम,पढ़ें

मृत्यु दर घटाने के लिए सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएंगे

मृत्यु दर घटाने के लिए सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएंगे



मृत्यु दर घटाने के लिए सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएंगे

वेब खबरिस्तान, चंडीगढ़ : पंजाब के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर लालजीत सिंह भुल्लर ने आज सड़क सुरक्षा ट्रैफिक प्रबंधन और सड़क सुरक्षा संबंधी राज्य स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि राज्य की सड़कों पर ट्रैफिक प्रबंधन व सड़क हादसों में मृत्यु दर घटाने के लिए सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएंगे। पंजाब सरकार राज्य में सड़क हादसों के दौरान बेवक्त जा रही मौतों से बहुत चिंतित है। यातायात कंट्रोल करने और सड़क हादसों के दौरान मौत दर कम करने के लिए सुप्रीम कोर्ट की कमेटी की सिफारिशों की पालना करते हुए सड़क नियमों को लागू करवाने के लिए राज्य में ऐसे मापदंड अपनाना समय की मुख्य जरूरत है।

ट्रामा केयर सेंटरों की सुविधा करेंगे शुरू 


मंत्री भुल्लर ने प्रमुख सचिव विकास गर्ग को निर्देश दिए कि वह सीसीटीवी कैमरे लगाने संबंधी प्रोजेक्ट का मसौदा तुरंत तैयार करें। अधिकारियों को कहा कि वह सड़क हादसों में होने वाली मौतों को प्राथमिक पड़ाव में 50 प्रतिशत तक घटाने के लिए सख्त कदम उठाएं जैसे कि ऑटोमेटेड ड्राइविंग टेस्ट स्टेशन के द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस बनाना, प्रमाणित और जारी करना। इसके अलावा सरकारी परिवहन और माल ढुलाई वाले वाहनों के ड्राइवरों को हैवी ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने की सख्ती से जांच की जाए और वाहनों की पासिंग प्रणाली को मजबूत किया जाए क्योंकि वाहनों की बुरी हालत भी हादसों का कारण बनती है। खन्ना, जालंधर, पठानकोट, फिरोजपुर और फाजिल्का में ट्रामा केयर सेंटर (स्तर-2) को कार्यशील करने के साथ-साथ सभी जिला अस्पतालों और सभी सरकारी कॉलेजों और बठिंडा में ट्रामा केयर सेंटरों की सुविधा शुरू करना शामिल है।

Related Links