पीएम सिक्योरिटी में चूक मामले में सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज करेंगे जांच

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पंजाब में चुनावी रैली को संबोधित करने फिरोजपुर जा रहे थे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पंजाब में चुनावी रैली को संबोधित करने फिरोजपुर जा रहे थे



पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा चूक मामले की जांच अब सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज की अगुआई वाली कमेटी करेगी

वेब ख़बरिस्तान,चंडीगढ़। पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा चूक मामले की जांच अब सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज की अगुआई वाली कमेटी करेगी। इसमें राष्ट्रीय जांच एजेंसी के डीजी और इंटेलिजेंस ब्यूरो के पंजाब यूनिट के एडिशनल डीजी शामिल होंगे। चीफ जस्टिस एनवी रमना की अगुआई वाली बेंच की ओर से यह आदेश दिए गए हैं। अब इस मामले की जांच कर रही केंद्र और पंजाब सरकार की जांच कमेटियां रद्द कर दी जाएँगी।

सुरक्षा इंतजाम नहीं किये गए


सुप्रीम कोर्ट में आज इस मामले की सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार की ओर से कहा गया कि पीएम के दौरे पर ब्लू बुक के हिसाब से सुरक्षा इंतजाम नहीं किए गए। राज्य में डीजीपी की देखरेख में रूट पर सुरक्षा इंतजाम किए जाने थे, मगर इसमें चूक हुई। इस पूरे मामले में पंजाब के अफसरों को नोटिस दिया गया था, मगर सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

अगर कोई अफसर जिम्मेदार तो उसपर हो कारवाई

पंजाब सरकार की ओर से कहा गया है कि केंद्र अफसरों को नोटिस भेजकर धमका रहा है। अगर कोई अफसर जिम्मेदार है, तो उस पर कार्रवाई हो, मगर इस तरह के आरोप न लगाए जाएं। पंजाब के एडवोकेट जनरल डीएस पटवालिया ने सुप्रीम कोर्ट के आगे स्वतंत्र जांच कमेटी बनाने की मांग रखी।

हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार के पास सुरक्षित रखवाए थे दौरे के रिकॉर्ड

पिछली सुनवाई में सुप्रीमकोर्ट ने पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को पीएम विजिट का रिकॉर्ड कब्जे में लेकर सुरक्षित रखने को कहा था। इसके लिए उन्हें एनआईए के आईजी संतोष रस्तोगी और चंडीगढ़ पुलिस की मदद भी दी गई थी। यह मामला 5 जनवरी का है। जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पंजाब में चुनावी रैली को संबोधित करने फिरोजपुर जा रहे थे। रास्ते में प्रदर्शनकारियों ने जाम लगा दिया, जिससे प्यारेआणा गांव के फ्लाईओवर पर उनके काफिले को 15 से 20 मिनट के लिए रुकना पड़ा। इसके बाद वह बठिंडा वापस लौट आए।

Related Links