अमृतसर में स्टाफ नर्स ने PG में फंदा लगाकर दी जान, सुसाइड नोट में हुआ खुलासा

अलीशा द्वारा पंखे से फंदा लगा लिया गया था

अलीशा द्वारा पंखे से फंदा लगा लिया गया था



मृतका के भाई ऋषभ गुप्ता ने बताया कि उसकी बहन की शादी साल 2014 में सतीश गुप्ता से हुई थी

वेब खबरिस्तान, अमृतसर: पति के साथ तलाक होने के बाद मजीठा रोड के एक पीजी में रह रही स्टाफ नर्स ने पंखे से लटक कर फंदा लगा कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मरने से पहले इस महिला ने अपनी मौत के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों के नाम सुसाइड नोट में लिखे। मृतका की पहचान अलीसा गुप्ता के रूप में हुई है। मजीठा रोड थाने में पुलिस को की गई शिकायत में जम्मू निवासी मृतका के भाई ऋषभ गुप्ता ने बताया कि उसकी बहन की शादी साल 2014 में सतीश गुप्ता से हुई थी।


उसने बताया कि पति से तकरार होने के कारण फरवरी 2021 में उसका तलाक हो गया, उसकी बहन अलीशा साल 2019 में अमृतसर आ गई और आई.वी.वाई. अस्पताल में बतौर स्टाफ नर्स काम कर रही थी। यहां वह भवानी नगर मजीठा रोड स्थित एक पी.जी. में रह रही थी। 30 जुलाई को जब उसने अपनी बहन अलीशा को बार-बार फोन किया पर उसने फोन नहीं उठाया तो उसके द्वारा किसी रिश्तेदार को उक्त पी.जी. भेजा गया।

शव के पास मिला सुसाइड नोट 

उसने बताया कि पी.जी. का दरवाजा न खुलने पर जब जांच की गई तो कमरे में बंद अलीशा द्वारा पंखे से फंदा लगा लिया गया था। उसके शव के पास एक सुसाइड नोट मिला, जिसमें उसने अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराते हुए जम्मू निवासी सुशांत महाजन, निशात की भाभी नेहा सहित आई.वी.वाई. अस्पताल के एन.एस. प्रभ सिंह के नाम लिखे थे। पुलिस द्वारा सुसाइड नोच के आधार पर कार्रवाई करते हुए इन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी गई है।

Related Tags


staff nurse suicide majitha road amritsar news amritsar police

Related Links