Phillaur में नशे को लेकर घिरी Police Academy, अब सबका होगा डाेप टेस्ट, दो कर्मी हो चुके सस्पेंड, और कर्मियों पर गिर सकती है गाज

Phillaur में नशे को लेकर घिरी Police Academy

Phillaur में नशे को लेकर घिरी Police Academy



उच्च अधिकारियों के पास पहुंची जांच की रिपोर्ट

वेब ख़बरिस्तान। फिल्लौर में पंजाब में नशे काे लेकर मचे घमासान में पुलिस के दामन पर भी दाग लग गया है। हालात यह है कि पंजाब पुलिस अकादमी में सालों से नशे का खेल चल रहा है। इस मामले में दो कर्मचारियों को गिरफ्तार करने के बाद बुधवार को उन्हें जेल भेज दिया गया। इसके साथ ही अकादमी में नशे के खेल को लेकर की गई जांच की रिपोर्ट भी उच्च अधिकारियों के पास पहुंच गई है।

रिपोर्ट में इस बात को अधिकारियों ने स्वीकार किया है कि अकादमी में नशे का कारोबार चल रहा था और कई पुलिसवाले उसके चलते नशे की गिरफ्त में आ गए। इसके बाद रिपोर्ट के अनुसार छह और पुलिस कर्मचारियों पर नशे के गोरखधंधे में शामिल होने के मामले में कारवाई की तैयारी की जा रही है। रिपोर्ट की कापी डीजीपी, डीआइजी व एसएसपी को भेजी गई है।

अकादमी में तैनात एक कर्मचारी नशे की ओवरडोज से काेमा में गया


दो सप्ताह पहले अकादमी में तैनात एक कर्मचारी नशे की ओवरडोज के चलते वह कोमा में चला गया था। इसके बाद से पूरे मामले का राजफाश हुआ कि अकादमी में क्या चल रहा है। मामले की जानकारी जब उच्चाधिकारियों को हुई तो उन्हें जांच करवाई। अस्पताल में उक्त कर्मचारी की का इलाज कर रहे डाक्टरों ने अधिकारियों को बताया कि उसने इतने इजेक्शन लगाए हैं कि उसकी कोई नस नहीं बची है जो खराब न हो गई है।

अधिकारियों के भी होश उड़ गए

शरीर में नशीले इंजेक्शनों के निशान देखकर अधिकारियों के भी होश उड़ गए। आम नशेड़ियों को सुधारकर मुख्य धारा में लाने की लड़ाई लड़ रही पंजाब पुलिस के अधिकारियों के लिए यह हकीकत देखना किसी अजूबे से कम नहीं था। नतीजतन पूरे मामले की जांच करवाई गई और मंगलवार को अकादमी में नशे का कारोबार करने वाले सीनियर इंस्ट्रक्टर शक्ति कुमार व जय कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इन्हें आज अदालत में पेश करके न्यायिक हिरासत में ले लिया गया है।

पहले नशा करवाते थे, फिर बैंक से कर्ज दिलवाते थे

शक्ति कुमार व जय कुमार अपने नेटवर्क के जरिये अकादमी के पुलिस कर्मचारियों को पहले नशे की लत लगाते थे। उसके बाद जब उनके पास पैसे नहीं होते थे। नशे के लिए तो उन्हें विभिन्न माध्यमों से कर्ज दिलवा देते थे। एक सिपाही ने जांच टीम को बताया कि उसके ऊपर 12 लाख का कर्ज नशे की लत लगाकर चढ़वा दिया गया है। उसी के बयान के आधार पर जांच टीम ने सारी जांच की है।

अकादमी के सभी जवानों का होगा डोप टेस्ट

अकादमी में तैनात सभी पुलिस कर्मचारियों का डोप टेस्ट हो सकता है। इसे लेकर जांच करने वाली टीम ने रिपोर्ट में भी सिफारिश की है। यहां कई सालों से नशे का कारोबार उक्त आरोपितों की तरफ से किया जा रहा था। इन्होंने कितने कर्मियों को नशे की लत लगाई है इसका पता सभी के डोप टेस्ट करवाने के बाद ही पता चलेगा।

Related Links