एम एस धोनी में काम कर चुके संदीप नाहर ने किया सुसाइड

sandeep nahar with ssrajpoot.

सोशल मीडिया पर डाला सुसाइड नोट और आखिरी वीडियो हुआ गायब

वेब खबरिस्तानः एम एस धौनी में सुशांत सिंह राजपूत के साथ काम कर चुके संदीप नाहर ने सोमवार को खुदकुशी कर ली। खुदकुशी से पहले संदीप ने एक सुसाइड नोट और एक वीडियो मैसेज सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। ये दोनों ही चीजें अब सोशल मीडिया से गायब हैं।

संदीप नाहर ‘एमएस धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी’ और ‘केसरी’ जैसी बड़ी फिल्मों में काम कर चुके हैं। उनका सुसाइड नोट और वीडियो सोशल मीडिया से गायब हो गया है। पुलिस ने कहा है कि नाहर का सुसाइड नोट और वीडियो उसने डिलीट नहीं किया। ऐसे में सवाल यह खड़ा होता है कि सुसाइड नोट और वीडियो को सोशल मीडिया से किसने हटाया।

संदीप ने सुसाइड से पहले करीब 9 मिनट का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। मुंबई पुलिस के डीसीपी विशाल ठाकुर ने कहा कि पुलिस की ओर से वीडियो डिलीट करने के लिए कोई रिक्वेस्ट नहीं की गई है। हो सकता है कि अपनी पॉलिसी के तहत फेसबुक ने खुद ही इस वीडियो को डिलीट कर दिया  हो। किसी आपत्तिजनक कंटेंट को लेकर फेसबुक को रिपोर्ट करने पर फेसबुक उसे डिलीट कर देता है। इसे लेकर जांच चल रही है।

14 महीने का डेटा गायब

संदीप के सोशल मीडिया अकाउंट से संदीप का न केवल आखिरी वीडियो या सुसाइड नोट गायब हुआ है बल्कि उनके सोशल मीडिया अकाउंट से पिछले 14 महीने तक का डाटा गायब हो गया है। इनमें कई पोस्ट संदीप ने करवा चौथ पर पत्नी के साथ डालीं थीं। एक पोस्ट उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद की थी, वो भी डिलीट कर दी गई है। उनके पेज पर अब आखिरी पोस्ट 17 दिसंबर 2019 की दिखाई दे रही है।

क्या था सुसाइड नोट में

संदीप ने सुसाइड करने से पहले सुसाइड नोट में पत्नी कंचन शर्मा और सास बुनू शर्मा के खिलाफ कई बातें लिखी हैं। संदीप ने लिखा- कंचन से शादी करने के बाद मेरी जिंदगी नरक बन गई थी। कंचन व उनकी मां बात-बात पर मेंटली टॉर्चर करती थीं। सुसाइड नोट से साफ होता है कि संदीप ने पत्नी और सास से परेशान होकर खुदकुशी की है। संदीप ने साथ में ये भी लिखा है कि उनकी मौत के बाद उनकी पत्नी कंचन को कुछ न कहा जाए। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

पत्नी ने अस्पताल में भी की चालाकी

गोरेगांव पुलिस के मुताबिक संदीप के शव को लेकर संदीप की पत्नी कंचन दो अस्पतालों के चक्कर लगाती रही। उन्हें अस्पताल में मृत घोषित करने के बाद वे पुलिस को बिना बताए शव को घर ले गईं। पुलिस ने बताया है कि संदीप ने कमरे का दरवाजा बंद करके फांसी लगाई थी। कंचन ने कारपेंटर को बुलाकर दरवाजा तुड़वाया और शव को निकाला। बताया जा रहा है कि कंचन ने दो अन्य लोगों की मदद से संदीप के शव को पंखे से उतारा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here