आप भी पीते हैं बीयर तो हो जाएं सावधान... इन बीमारियों का होता है खतरा



बीयर के कई ब्रांड में एल्कोहल की मात्रा 5 से 6 प्रतिशत से भी ज्यादा होती है

खबरिस्तान नेटवर्क। बीयर में कुछ प्रतिशत एल्कोहल होता है, जो आपकी हेल्थ के लिए बेहद नुकसानदायक साबित हो सकता है। अगर आप अत्यधिक मात्रा में बीयर पीएंगे, तो गंभीर बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं।

दुनियाभर में बीयर को लेकर दीवानगी देखी जा सकती है। बड़ी संख्या में लोग इसे पीना पसंद करते हैं। कुछ लोग बीयर पीने के इतने शौकीन होते हैं कि वे हर दिन इसका सेवन करते हैं। क्या आप जानते हैं कि बीयर पीने का शौक सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। अब तक कई स्टडी में यह बात सामने आ चुकी है कि ज्यादा बीयर पीने से आपको कैंसर, लिवर डिजीज, डिप्रेशन, मोटापा और मौत का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। आमतौर पर बीयर में 4 से 6% एल्कोहल होता है, लेकिन कई ब्रांड में एल्कोहल की मात्रा इससे कहीं ज्यादा होती है. आज आपको बीयर के साइड इफेक्ट्स और इससे होने वाले कुछ फायदों के बारे में बता रहे हैं.

ज्यादा बीयर पीने से हो सकती हैं ये परेशानियां


अत्यधिक मात्रा में बीयर पीने से मौत का खतरा अन्य लोगों की अपेक्षा बढ़ जाता है। इसलिए बीयर एक लिमिट में ही पीनी चाहिए। बीयर पीने से आप एल्कोहल एडिक्ट भी हो सकते हैं। आपको इसकी लत लग गई तो यह बेहद नुकसानदायक साबित हो सकता है। कई रिसर्च में यह बात सामने आ चुकी है कि 30 ग्राम से ज्यादा एल्कोहल लेने से आपको लिवर डिजीज का खतरा बढ़ जाता है। 355 मिलीलीटर की बीयर बोतल में करीब 30 एमएल से ज्यादा एल्कोहल होता है, जो लिवर सिरोसिस समेत कई बीमारियों की वजह बन सकता है।

कैंसर, डिप्रेशन और मोटापे हो सकती है समस्या

स्टडी के मुताबिक एल्कोहल का सेवन करने से गले और मुंह के कैंसर का खतरा कई गुना बढ़ सकता है। इसके अलावा जो लोग बीयर पीते हैं, उन्हें डिप्रेशन का खतरा भी बढ़ जाता है। खास बात यह है कि बीयर की एक केन में 153 कैलोरी होती है। अगर आप ज्यादा बीयर पिएंगे तो मोटापा बढ़ने की आशंका भी ज्यादा हो जाएगी। कुल मिलाकर बीयर का अत्यधिक सेवन आपकी हेल्थ के लिए बेहद खतरनाक हो सकता है। इसलिए आपको हर दिन बीयर पीने से बचना चाहिए।

लिमिट में पिएंगे तो कुछ फायदे भी होंगे

रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर आप एक निश्चित मात्रा में बीयर का सेवन करेंगे तो हार्ट डिजीज होने का खतरा कम हो जाएगा। ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद मिलेगी। डिमेंशिया का रिस्क कम होगा और बोन डेंसिटी को लेकर फायदा होगा। हालांकि ऐसा कुछ भी करने से पहले आपको डॉक्टर से जरूर सलाह ले लेनी चाहिए. बीयर किसी भी बीमारी का इलाज नहीं हो सकती। 

Related Tags


beer wine whisky alcholah diseases khabristan news

Related Links


webkhabristan