बारिश के बाद होती है साइनस और डिहाइड्रेशन की समस्या से, रखें खुद का ख्याल



हेल्दी डाइट से करें खुद को इस मौसम में भी दुरूस्त

खबरिस्तान नेटवर्क: देश के ज्यादातर राज्यों में बारिश ने दस्तक दे दी है। वहीँ इसी बारिश से लोगों को राहत तो मिली ही है साथ ही बारिश अपने साथ कई तरह की  बीमारी को भी लेके आती है। बता दें कि बारिश के बाद उमस (Humidity) होती है, तो उमस की वजह से लोगों का हाल-बेहाल हो जाता है। तो आज जानते हैं की इससे कौन कौन सी बीमारियां होने का खतरा बना रहता है।

डिहाइड्रेशन से बचें

जब बारिश होती है तो लोगों को लगता है कि मौसम ठंडा हो गया है। अब शरीर में पानी की कमी नहीं होगी, लेकिन उमस की वजह से पसीना भी ज्यादा निकलता है। ऐसे में शरीर को पानी की ज्यादा जरूरत होती है। ऐसी सिचुएशन में लोगों को वाटर इनटेक को बढ़ाना चाहिए। वरना डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। BP यानी ब्लड प्रेशर भी लो हो सकता है।

सर्दी-खांसी में क्या करें


बारिश के मौसम में लोग ठंड और गर्म चीजों का  सेवन एक साथ करते हैं। इससे वायरल इंफेक्शन या सर्दी-खांसी जैसी समस्या पैदा होती है। इसलिए इस मौसम में ऐसा करने से बचें।

साइनस

चेहरे और सिर के अंदर छोटे-छोटे एयर स्पेस होते हैं, जिसे साइनस कहते हैं। जब सर्दी होती है तो इन एयर स्पेस की ओपनिंग बंद हो जाती है और साइनस बढ़ जाता है। ऐसे में ध्यान रखें।

माइग्रेन

इस मौसम में माइग्रेन की समस्या भी बढ़ सकती है। हालांकि, हर किसी को माइग्रेन की समस्या अलग-अलग वजहों से होती है। जैसे- किसी को तेज गर्मी तो किसी को ज्यादा रोशनी से।

बैलेंस डाइट लें

इस मौसम में मन तो पकोड़े और गरमा गरम हलवा खाने का करता है। ऐसे में ज्यादा तेल में बना हुआ कहना कहने से बचाना चाहिए। इस समय अपनी डाइट में सीजनल फ्रूट्स लें, जैसे- पपीता, अनार, लीची आदि। हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें। बाहर का खाना खाने से बचें। इतना ही नहीं बच्चों को कुरकुरे या चिप्स खाने से रोकें। इससे एसिडिटी हो सकती है। कोल्ड ड्रिंक पीने से परहेज करें।

ये जानकारी आपको जागरूकता मात्र के लिए दी गयी है। अगर आप पहले से ही किसी बीमारी से ग्रस्त हैं तो डॉक्टर को तुरंत दिखा लें।

Related Tags


SINUS DEHYDRATION COLD CUFF MONSOON PROBLEMS

Related Links



webkhabristan