छींक रोकने से हो सकते हैं शरीर को बहुत से नुकसान



तो ऐसे में कानों में रप्चर इयर ड्रम की समस्या हो सकती है

खबरिस्तान नेटवर्क: हमें कई बार कही पर भी छींक आ जाती है। इसका कारण नाक में कोई गंदगी, धूल-मिट्टी या मोल्ड के कण चले गये हैं। वहीँ छींक का आना सेहत के लिए सही भी माना जाता है। इसके बहुत से हेल्थ बेनेफिट्स भी हैं। जिसमे कई तरह के इंफेक्शन से बचा जा सकता है। लेकिन वही अगर आप अपनी छींक को जानबूझकर कर रोक लेते हैं तो इसका नुकसान भी होता है। तो चलो आज यही जानते हैं।

छींक रोकने से होता है शरीर को नुकसान

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति अपनी छींक को रोकता है तो ऐसे में कानों में रप्चर इयर ड्रम की समस्या हो सकती है। वहीं अगर यह समस्या उस शख्स में बार-बार देखने को मिलती है तो उसे कम सुनाई की भी समस्या हो सकती है।

कान का इन्फेक्शन हो सकता है


बता दें अगर कोई व्यक्ति आती हुई छींक को रोकता है तो नाक में अगर कोई बैक्टीरिया है और वह आपके द्वारा छींक को रोकने के कारण बाहर नहीं निकल पाया हो तो ऐसे में वह आपके कान तक जा सकता है और अप्पको कान का इंफेक्शन हो सकता है।

आंख में भी हो सकती है समस्या

जब कोई अपनी छींक को रोकने की कोशिश करता है तो उन्हें आंख और नाक में समस्या हो सकती है। इस कारण आपके आंख, नाक और इयर ड्रम्स की ब्लड वेसल्स कमजोर भी हो सकती है। यही कारण होता है कि इस हालत में आपके आंख और नाक लाल हो जाते है।

जान भी जा सकती है

ऐसा भी देखा गया है कि छींक के रोकने से प्रेशर में बनी हवा डायाफ्राम के अंदर फंस जाती है जो बाद में आपके फेफड़ों से जाकर टकरा जाती है। हालांकि ऐसा बहुत कम हो होता है, लेकिन अगर ऐसा हुआ तो यह आपके सेहत के लिए जानलेवा भी हो सकती है।

Related Tags


sneezing side effectsholding sneeze

Related Links