चीन में मंकीपाक्स का पहला केस आया सामने, आप भी रखें ध्यान



कोरोना से संक्रमित था मरीज, मंकीपाक्स की रिपोर्ट भी पाजिटिव मिली

खबरिस्तान नेटवर्क। चीन में जानवरों से इंसानों में फैलने वाली बीमारी मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आया है। इसके बाद चीन के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी ने लोगों से अपील की है कि वे विदेशियों को न छूएं। चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के चीफ साइंटिस्ट वू जुनयू ने शनिवार को चीन के ट्विटर प्लेटफॉर्म वीबो पर पोस्ट करते हुए लिखा, देश में कोविड-19 से जुड़े प्रतिबंधो और कड़े बॉर्डर कंट्रोल नियमों के कारण अब तक देश में मंकीपॉक्स के प्रसार को रोका है।बता दें कि, यह चीन में मंकीपॉक्स का पहला मामला है जो चोंगकिंग क्षेत्र में पाया गया है। समाचार एजेंसियों की रिपोर्ट के अनुसार, विदेश से आए एक व्यक्ति में कोविड-19 के लक्षण दिखायी देने के बाद उसे क्वारंटीन किया गया था और वहीं उसमें मंकीपॉक्स संक्रमण का पता तब चला।हालांकि, यह नहीं बताया गया है कि मंकीपॉक्स संक्रमित व्यक्ति चीनी है या विदेशी नागरिक।

विदेशियों से स्किन टू स्किन कॉन्टैक्ट से बचें


मंकीपॉक्स से संक्रमित व्यक्ति को बुखार के लक्षण आते हैं और शरीर पर छाले जैसे कई घाव बन जाते हैं। मंकीपॉक्स की दोबारा शुरूआत इसी साल मई में हुई है। यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, इस साल अब तक अमेरिका में 23,500 मामले सामने आए हैं। चीन में मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आने के बाद वू ने अपने पोस्ट में अंतरराष्ट्रीय यात्रा और संपर्क से फैलने वाली बीमारी के जोखिम की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करते हुए लिखा, मंकीपॉक्स की निगरानी और रोकथाम को मजबूत करना आवश्यक और महत्वपूर्ण है। 

Related Tags


monkeyoox covid-19 corona health news khabristan news

Related Links


webkhabristan