लाहौर चले गए थे साहिर, पाकिस्तान बना तो वतन लौट आए

sahir ludhianvi

8 मार्च की महत्त्वपूर्ण घटनाएं – Important events of March 8

वेब खबरिस्तान। पंजाब का एक शायर ऐसा भी जिसने मोहब्बत और इंकलाब दोनों का पैरोकारी की। आज वह दुनियां में नहीं मगर उनका नाम रहती दुनिया तक शान से लिया जाएगा। इस महान शायर का नाम है साहिर लुधियानवी। लुधियाना में मुस्लिम गुज्जर परिवार में आज ही कि दिन 1921 में जन्मे साहिर का बचपन बेहद खराब हालात में गुजरा। पिता मां को मारते थे। इसी कारण साहिर ने हमेशा जुल्म की मुख़ालफ़त की।

साहिर और पंजाबी लेखिका अमृता प्रीतम के इश्क के बहुत से किस्से मिलते हैं। कुछ लोग कहते हैं दोनों एक-दूसरे को बहुत चाहते थे। कुछ का कहना है कि साहिर का प्यार इकतरफा था। मगर दोनों के बीच कुछ तो था। साहिर ने लुधियाना में भी पढ़ाई की। देश आजाद होने से पहले 1943 में साहिर लुधियाना चले गए, मगर वहां पाकिस्तान बनने के बाद उनका वहां दम घुटने लगा और वह वापस 1949 में भारत आ गए। कुछ वक्त दिल्ली रहने के बाद वह फिल्मों में चले गए। आजादी की राह से फिल्मी सफर की शुरुआत हुई। नौजवान उनकी पहली कामयाबी थी। ठंडी हवायें, लहरा के आयें…से सचिनदा और साहिर की जोड़ी बनी और प्यासा में टूटी।

ताजमहल के बारे में साहिर के ख्यालात दुनिया के बिलकुल फ़र्क थे। वो फकीरों के मसीहा थे। रूमानियत में भी फकीरी का दीदार हुआ। तभी तो उन्होंने लिखा था – इक शहंशाह ने दौलत के सहारा लेकर, हम गरीबों की मोहब्बत का उड़ाया है मज़ाक…साहिर ने तकरीबन हर गाना बेहतरीन लिखा। अब यह बात दीगर है कि उन्हें सिर्फ़ ‘ताजमहल’और ‘कभी कभी’ में ही बेस्ट गीतकार के फिल्मफेयर अवार्ड मिला…जो वादा किया है वो निभाना पडेगा…कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है… उर्दू अदब में साहिर का मुकाम बहुत बुलंद है। साहिर ऐसा शायर था जो जन-जन तक पहुंचा।

दुनिया – 1909 में पहली बार मनाया था महिला दिवस

1702 – इंग्लैंड के राजा विलियम तृतीय की मौत के बाद महारानी ऐनी ने सत्ता संभाली।
1907 – ब्रिटिश हाउस ऑफ कॉमन्स ने महिलाओं के मताधिकार से संबंधित विधेयक को ठुकरा दिया।
1908 – काम के लिए बेहतर वेतन, कम घंटे और वोट देने का अधिकार को लेकर न्यूयॉर्क में कई महिलाओं ने एक रैली में हिस्सा लिया।
1909 – अमेरिकी सोशलिस्ट पार्टी ने पहली बार राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया था।
1910 – कोपनहेगेन (डेनमार्क) में हुए महिलाओं के अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में 08 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस तय करने का प्रस्ताव रखा।
1911 – यूरोप में पहली बार अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया।
1921 – स्पेन की राजधानी मैड्रिड में पार्लियामेंट से बाहर निकलते वक्त राष्ट्रपति एडवर्डो दातो की हत्या।
1942 – द्वितीय विश्व शुद्ध के दौरान जापानी सेना ने वर्मा के रंगून पर कब्जा किया।
2004 – इराक के गवर्निंग काउंसिल द्वारा एक नए संविधान पर हस्ताक्षर किए गए।
2006 – रूस ने ईरान मामले पर अपना प्रस्ताव वापस लिया।
2013 – उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के साथ सभी शांति समझौतों को समाप्त कर दिया।

एअर इंडिया इंटरनेशनल की स्थापना

1534 – गुजरात के बहादुर शाह ने चित्तौढ़गढ़ को लूटा।
1930 -महात्मा गांधी ने सविनय अवज्ञा आंदोलन शुरू किया।
1948 – एअर इंडिया इंटरनेशनल की स्थापना।
2008 – फ़िल्म फ़ेयर आफ़ फ़ुटपाथ ने काहिरा इंटरनेशनल फ़ेस्टीवल फ़ॉर चिल्ड्रेन में भारत का प्रतिनिधित्व किया।
2009 – भारत के अग्रणी गोल्फ ख़िलाड़ी ज्योति रंधावा ने थाइलैंड ओपन ख़िताब जीता।

जन्मदिन – Born on 8 March

गोपी चन्द भार्गव 1889, पंजाब के प्रथम मुख्यमंत्री
हरी नारायण आप्टे 1864, प्रसिद्ध मराठी लेखक
विश्वनाथ दास 1889, भारतीय राजनीतिज्ञ और ब्रिटिश भारत के उड़ीसा प्रान्त के मुख्यमंत्री
दामेर्ला रामाराव 1897, भारतीय कलाकार
साहिर लुधियानवी 1921, प्रसिद्ध फिल्म गीतकार
वसुंधरा राजे सिंधिया 1953, राजस्थान की पहली महिला मुख्यमंत्री
फ़रदीन ख़ान 1975, भारतीय अभिनेता
हरमनप्रीत कौर 1989, भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी
जिम्मी जॉर्ज 1955, भारत के ही नहीं बल्कि विश्व के दस सर्वश्रेष्ठ वॉलीबॉल खिलाड़ियों में से एक

पुण्यतिथि – Died on 8 March

रानी कर्णावती 1535, मेवाड़ की रानी
बाल गंगाधर खेर 1957, भारत के प्रसिद्ध राष्ट्रीय नेता
विनोद मेहता 2015, आउटलुक के संस्थापक एवं प्रसिद्ध पत्रकार

खास दिन – Important events and festivities of 08 March

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस

ग्रेट थॉट

जिन्दगी मे गलतियां कम करनी चाहिए वरना पेन्सिल से पहले रबड़ खत्म हो सकती है।

ख़बरिस्तान फैक्ट

मरी हुई चीटी से ऐसा रसायन निकलता है जिससे अन्य चीटियों को उसके मृत होने का पता चलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here