निधन के सालभर बाद मैराडोना पर क्यूबा की महिला ने रेप और मारपीट का लगाया आरोप

पिछले साल 25 नवंबर को 60 साल की उम्र में उनका निधन हो गया

पिछले साल 25 नवंबर को 60 साल की उम्र में उनका निधन हो गया



मौत के एक साल बाद एक महिला ने उन पर रेप का आरोप लगाया

वेब ख़बरिस्तान। महान फुटबॉलर डिएगो मैराडोना की मौत के एक साल बाद एक महिला ने उन पर रेप का आरोप लगाया है। क्यूबा की नागरिक मैविस अल्वारेज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि 15 साल की उम्र में मैराडोना ने उनका रेप किया। उन्होंने उसका बचपन छीन लिया और कोकीन का आदी बना डाला। मैविस ने मैराडोना के साथ अपनी तस्वीरें दिखाते हुए कहा कि उनसे मारपीट भी की जाती थी।

पिछले साल हो गया था निधन

मैराडोना 1986 में फुटबॉल वर्ल्ड कप जीतने वाली अर्जेंटीना की टीम का हिस्सा रहे। इसी वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ किए गए उनके गोल को "हैंड ऑफ गॉड" का नाम दिया गया था। उनका जन्म 30 अक्टूबर 1960 को अर्जेंटीना के ब्यूनर आयर्स में हुआ था। पिछले साल 25 नवंबर को 60 साल की उम्र में उनका निधन हो गया।


37 वर्षीय मैविस अभी मियामी में रहती हैं। उन्होंने मैराडोना की टीम के साथियों पर भी मारपीट का आरोप लगाया है। मैविस के दो बच्चे हैं। एक 15 साल और दूसरा 4 साल का है। मैविस ने बताया कि 20 साल पहले मैराडोना से उनके संबंध थे। जोकि 4-5 साल तक चले। जब वह मैराडोना से मिली थीं, तब नाबालिग थीं। पहली बार 15 साल की उम्र में क्यूबा में मैराडोना से मिली थीं। उस समय मैराडोना 40 साल के थे और वह क्यूबा में ड्रग एडिक्शन का इलाज करवा रहे थे।

दो महीने बाद चीजें बदलने लगी

मैविस ने कहा, "मैं मैराडोना की ख्याति से बहुत प्रभावित हो गई थी और उनके झांसे में आ गई, मगर दो महीने बाद ही चीजें बदलने लगीं। मैराडोना ने मुझे जबरदस्ती कोकीन की ओर धकेल दिया और उसका आदी बना दिया। मैंने आत्महत्या के बारे में भी सोचा था।"

मैविस ने मैराडोना के खिलाफ शिकायत दर्ज नहीं करवाई है। मगर अमेरिकी मीडिया को दिए बयान के बाद अर्जेंटीना की एनजीओ फाउंडेशन फॉर पीस ने मैराडोना और उनकी टीम पर हैरेसमेंट और मानव तस्करी को लेकर शिकायत दर्ज कराई है। मैविस ने कहा कि वह आगे एक्शन नहीं लेंगी। उन्हें जो करना था, उन्होंने कर दिया। अब अदालत का फैसला है।

मैराडोना की टीम ने आरोपों को गलत बताया

मैराडोना के दल के पांच सदस्यों जिनका नाम सामने आया है, सभी ने अपने वकीलों के माध्यम से आरोपों का खंडन किया है। एनजीओ पर उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है।

Related Links