तालिबान ने पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के भाई को बेरहमी से मार डाला

रोहुल्लाह सालेह को पंजशीर घाटी में ही मौत के घाट उतार दिया गया

रोहुल्लाह सालेह को पंजशीर घाटी में ही मौत के घाट उतार दिया गया



तालिबान ने अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई रोहुल्लाह सालेह की निर्मम हत्या कर दी।

वेब ख़बरिस्तान,नई दिल्ली । तालिबान ने अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई रोहुल्लाह सालेह की निर्मम हत्या कर दी। तालिबान के सूत्रों का दावा है कि रोहुल्लाह सालेह को पंजशीर घाटी में ही मौत के घाट उतार दिया गया। सूत्रों अनुसार रोहुल्लाह को तालिबानियों ने पहले कोड़ों और बिजली के तार से पीटा। फिर उसके बाद गला काट दिया। तड़पते सालेह पर इसके बाद गोलियां बरसा दीं।

पंजशीर से काबुल जाने की फिराक में था रोहुल्लाह सालेह


सामने आ रहा है कि रोहुल्लाह सालेह पंजशीर से काबुल जाने की फिराक में था। लेकिन तालिबानियों को इसका पता चल गया। उन्होंने सालेह को घेरकर बंदी बना लिया और उनको बेरहमी से मार डाला। मगर अभी अमरुल्लाह सालेह ने इस मामले में कोई बयान नहीं दिया है।

15 अगस्त को किया था काबुल पर कब्ज़ा

15 अगस्त को काबुल पर तालिबानी कब्जे के बाद राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर भाग गए। उनके देश छोड़ने के बाद उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने खुद को राष्ट्रपति घोषित कर दिया। उन्होंने पंजशीर के लड़ाकों के साथ मिलकर नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स के बैनर तले तालिबान के खिलाफ विद्रोह का बिगुल भी फूंका। तालिबान की ओर से कुछ दिनों पहले पंजशीर पर जीत का दावा किया था। तालिबान ने नॉर्दर्न अलायंस के कमांडरों और विद्रोहियों के प्रवक्‍ता फहीम दश्‍ती और पंजशीर के शेर कहे जाने वाले जनरल अहमद शाह मसूद के भतीजे जनरल वदूद की हत्या कर दी थी।

Related Links