6G पर ट्रायल शुरू, जानिए भारत में कब होगा लॉन्च? 

जापान अब 6G लॉन्च करने की तैयारी में है। इसके लिए नोकिया, NTT डोकोमो और स्थानीय फुजित्सु कंपनी साथ मिलकर काम कर रही हैं। 

1 सेकंड में डाउनलोड होगी 57 फिल्म 

अगर स्पीड की बात करें तो 5G की इंटरनेट स्पीड 10 Gbps है जबकि 6G की स्पीड 1000 Gbps है। यूजर्स 6G शुरू होने के बाद एक सेकेंड में 142 घंटे का हाई-क्वालिटी वीडियो डाउनलोड कर सकेंगे। एक HD क्वालिटी मूवी औसत 2.5 घंटे की होती है, तो इस हिसाब से 6G के आने के बाद 1 सेकेंड में करीब 57 फिल्म डाउनलोड हो सकेंगी।

भारत में 15 अगस्त को 5जी नेटवर्क होगा लाइव 

भारत में 5G इंटरनेट सेवा शुरू करने के लिए तीन बड़ी प्राइवेट टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल, रिलायंस जियो और वोडाफोन-आइडिया काम कर रही हैं। भारत सरकार इस साल 15 अगस्त के मौके पर 5G नेटवर्क को लाइव देखना चाहती है।

साल 2030 तक भारत में होगा 6जी 

TRAI के सिल्वर जुबली पर आयोजित कार्यक्रम में PM मोदी ने अगले 8 साल में 6G इंटरनेट सर्विस देश में लॉन्च करने का दावा किया है। PM ने कहा कि इस दशक के अंत तक, यानी 2030 तक देश में 6G के लॉन्च होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि देश के आम लोगों तक अल्ट्रा हाई स्पीड इंटरनेट पहुंचाने के लिए देश में 6G लॉन्च करना जरूरी है।

बिना ड्राईवर ऑपरेट होंगी गाड़ियाँ 

6जी के जरिए ऑटोमिक तरीके से मेट्रो और दूसरी गाड़ियों को बिना ड्राइवर आसानी से ऑपरेट करना संभव होगा। वर्चुअल रियलिटी और रोबोट का इस्तेमाल न सिर्फ 6G के आने से बढ़ेगा, बल्कि इस इंडस्ट्री में ग्रोथ की संभावनाएं भी तेजी से बढ़ेंगी।

 ‘साइबॉर्ग’ और ‘ब्रेन कंप्यूटर’ जैसी टेक्नोलॉजी होगी

ये टेक्नोलॉजी सीधे हमारे शरीर से जुड़ी होगी।’‘साइबॉर्ग’ का मतलब है कि चिप्स और दूसरी टेक्नोलॉजी को इंसान के शरीर में फिट किया जा सकता है। इस टेक्नोलॉजी के जरिए इंसान के बॉडी पार्ट को किसी मशीन के जरिए रिप्लेस किया जा सकता है।

Previous Next



webkhabristan